loading...
होशियारपुर में हुआ अंतिम संस्कार। इनसेंट में दलजीत सिंह रंधावा
loading...
होशियारपुर में हुआ अंतिम संस्कार। इनसेंट में दलजीत सिंह रंधावा

होशियारपुर. ब्रिटिश मिलिटरी क्रास प्राप्त कर्नल दलजीत सिंह रंधावा का 96 साल की उम्र में शुक्रवार को निधन हो गया। वह ब्रिटिश आर्मी के लास्ट इंडियन अधिकारी हैं, जिन्हें कांगो में सैकेंड वर्ल्ड वार के दौरान अदम्य साहस दिखाने पर 22 साल की उम्र में क्रास मिला। उनका अंतिम संस्कार शनिवार को किया गया।

अमेरिकी सैनिकों को रस्सी से बांध दिया था…
कर्नल दलजीत सिंह रंधावा भारत के ऐसे पहले अफसर थे, जिन्होंने अमेरिकी सैनिकों को रस्सी से बांध दिया था। उन्हें 1963 में यूएन फोर्स के तहत कांगो भेजा गया था। वह मद्रास की यूनिट को कमांड कर रहे थे। उन्हें वहां लोकल डेमोक्रेटिक गवर्नमेंट को बचाना था। मुकाबला कड़ा था। विरोध में यूरोपीय और अमेरिकी लड़ाके थे। उन्हें व्हाइट एंट्रेस कहा जाता था। वह अफ्रीकियों के हाथ में सत्ता नहीं जाने देना चाहते थे। हमारे लिए नई जमीन थी लेकिन फिर भी उन्हें रस्सी के सहारे बंधक बना लिया। 

1 of 3
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...