समुद्र के नीचे से गुजरेगी देश की पहली बुलेट ट्रेन, मिट्टी और चट्टान के परीक्षण….

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘समुद्र के नीचे की 70 मीटर की गहराई पर मौजूद मिट्टी और चट्टानों का परीक्षण किया जा रहा है और यह पूरी परियोजना के लिए किये जाने वाले भू-तकनीकी और भू-भौतिकीय परीक्षण के कार्य का हिस्सा है।’

उन्होंने बताया कि 21 किलोमीटर लंबी सुरंग को छोड़कर 508 किलोमीटर लंबे कॉरिडोर का अधिकांश हिस्सा एलिवेटेड मार्ग पर पर प्रस्तावित है, जबकि ठाणे क्रीक के बाद विरार की ओर का एक हिस्सा समुद्र के अंदर से गुजरेगा। परियोजना की फंडिग कर रही एजेंसी जेआईसीए (JICA) की परियोजना रिपोर्ट के अनुसार ऐसा किया जा रहा है।