loading...

महाभारत का युद्ध धर्म और अधर्म के बीच युद्ध था, ऐसा युद्ध जो परिवार के बीच ही लड़ा जा रहा था। कई यौद्धा था जिन्हें लेकर कई दिलचस्प कहानियां हैं। ऐसा ही एक यौद्धा था कर्ण। युद्ध के दौरान कई बार कृष्ण ने अर्जुन से परंपरागत नियमों को तोड़ने के लिए कहा जिससे धर्म की रक्षा हो सके। कर्ण की हत्या भी महाभारत का एक ऐसा ही हिस्सा है। कर्ण सूर्य के पुत्र थे जिन्हें सूर्य भगवान ने रक्षा के लिए कवच और कुंडल दिए थे। lord-krishna

कर्ण महाभारत के सबसे ज़्यादा दिलचस्प चरित्र माने जाते हैं। उन्हें सूर्यपुत्र, महारथी कर्ण, दानवीर कर्ण, सर्वश्रेष्ठ धनुर्धर कर्ण, राधेय, वसुषेण जैसे नामोँ से भी जाना जाता है। दरअसल कर्ण को तीन शाप मिले थे। पल भर में आगबबूला होने वाले  परशुराम ने शाप दिया कि तुमने मुझसे जो भी विद्या सीखी है वह झूठ बोलकर सीखी है इसलिए जब भी तुम्हें इस विद्या की सबसे ज्यादा आवश्यकता होगी, तभी तुम इसे भूल जाओगे। कोई भी दिव्यास्त्र का उपयोग नहीं कर पाओगे।

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

शेयर करें