loading...

woma

loading...

वो एक समय था जब महिलाएं वर्जिनिटी को काफी सीरियस लेती थी और शादी के बाद ही इसे खोने में विश्वास रखती थीं।

यूं तो कहा जाता है कि सेक्स शारीरिक जरुरत है लेकिन महिलाओं और पुरुषों में इसको लेकर कई तरह की अलग-अलग धारणाएं होती हैं। जहां पुरुष सेक्स को लेकर काफी मुखर होते हैं वहीं महिलाओं में सेक्स को लेकर एक हिचक सी होती है लेकिन महिलाओं में भी सेक्स को लेकर कई धारणाएं होती है। जिस वजह से उनमें सेक्स करने की इच्छाएं जागती हैं।

यह भी पढ़े > जब पुरुष 4 निकाह कर सकते है तो महिलाएं क्यों नहीं- HC Judge

हम आपको महिलाओं की उस सोच और तथ्य से रूबरू करवाने जा रहे हैं जिन्हें जानकर न सिर्फ आपको हैरानी होगी बल्कि आप उन्हें अपनाकर कुछ हद तक महिलाओं को समझने में कामयाब भी हो जाएंगे।

education
फाइल फोटो

मनोवैज्ञानिक डेविड बुस और सिंडी मेस्टन ने एक शोध में पाया कि महिलाओं में यौन उत्तेजना के कारणों में प्यार कोई वजह नहीं है। अब वर्जिनिटी के बारे में महिलाएं नहीं सोचती। वो एक समय था जब महिलाएं वर्जिनिटी को काफी सीरियस लेती थी और शादी के बाद ही इसे खोने में विश्वास रखती थीं।

यह भी पढ़े > सुन्नी धर्मगुरु का बयान, मुस्लिम महिलाएं केवल बच्चा पैदा करने के लिए होती है

लेकिन अब कई महिलाओं को वर्जिनिटी खिताब नहीं बोझ जैसा लगता है।

अगले पृष्ठ पर जारी 

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें