loading...

modi ke gaddi

loading...

  • उस समय मोदी भाजपा प्रभारी थे। अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री थे। एक बार मोदी भोपाल आए तो ट्रैफिक हवलदार ने उनकी कार रोक दी। बदले में मोदी ने गाड़ी रोक ली और उसे शाबासी दी ।

नई दिल्ली। देश की पहली महिला आईपीएस किरण बेदी के बारे में यह प्रचलित है कि एक बार उन्होंने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की गाड़ी का चालान कर दिया था। कुछ ऐसा ही किस्सा पीएम नरेंद्र मोदी के साथ जुड़ा है जब एक ट्रैफिक हवलदार ने उनकी गाड़ी को रोक दिया। दरअसल यह घटना मोदी के पीएम बनने से पहले की है।

Read Also > मोदी पर भड़ास निकालने के बाद 10 दिन के ध्यान योग पर बैठेंगे केजरीवाल, दूर करेंगे टेंशन

उस समय भाजपा प्रभारी थे मोदी: तब अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री थे। एक बार मोदी भोपाल आए तो ट्रैफिक हवलदार ने उनकी कार रोक दी। बदले में मोदी ने गाड़ी रोक ली और उसे शाबासी दी । यह तब की बात है जब 1998 में मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव होने थे। तत्कालीन पीएम वाजपेयी सभा करने आए थे। मोदी भी उनके साथ सभा में मौजूद थे।

Read Also > इस 15 अगस्त PM मोदी की जान को ज्यादा खतरा: सुरक्षा एजेंसियां

सभा समाप्त होने के बाद उन्हें भोपाल आना था। वे पहले एक छोटे विमान में बैठे और भोपाल हवाईअड्डे से भाजपा कार्यालय की कार में सवार हुए। वहां हमीदिया अस्पताल के पास ट्रैफिक हवलदार ने उनकी कार रोक दी। कार रोकने का कारण यह था कि कुछ ही देर बार दिग्विजय सिंह का काफिला निकलने वाला था। तब दिग्विजय मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री थे।

Read Also > प्रधानमंत्री मोदी की सरकार में सांसद, आज बन गए आर्मी में लेफ्टिनेंट

मोदी ने दी थी शाबाशी : मोदी जिस कार में बैठे थे, उसके ड्राइवर ने हवलदार से कहा कि कार में भाजपा प्रभारी बैठे हैं लेकिन हवलदार पर इसका कोई असर नहीं हुआ। उसने गाड़ी को रास्ता नहीं दिया, बल्कि मुख्यमंत्री का काफिला गुजरने के बाद ही ट्रैफिक खोला गया। मोदी ने हवलदार की कर्तव्यपरायणता देखकर उसे शाबासी दी।

Read Also > पीएम मोदी की सुरक्षा करती है, दुनिया की सबसे खतरनाक SPG कमांडो FORCE

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...