loading...

बरेली: ‘जाको राखे साईयां, मार सके ना कोई’ को चरितार्थ करते एक वाकये में बरेली जिले में ट्रेन के शौचालय में जन्मी एक बच्ची टॉयलेट सीट के पाइप के रास्ते पटरी के पास जा गिरी लेकिन उसे खरोंच तक नहीं आयी. ट्रेन को रकवाकर बच्ची को सुरक्षित उसकी मां को सौंप दिया गया. train_1441071161

loading...
पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) बृजेश श्रीवास्तव ने आज यहां बताया कि नेपाल के कंचनपुर निवासी पुष्पा टमटा (40) कल आंखों के इलाज के लिये बरेली आ रही थी. वह अकेली ही टनकपुर-बरेली पैसेंजर ट्रेन में सवार थी. ट्रेन जब बरेली के भोजीपुरा रेलवे स्टेशन पर रकी तो पुष्पा को प्रसव पीड़ा शुरू हो गयी.

उन्होंने बताया कि दर्द उठने पर पुष्पा बोगी स्थित शौचालय में चली गयी, वहीं उसने एक बच्ची को जन्म दिया लेकिन वह बच्ची टॉयलेट सीट के पाइप के रास्ते नीचे पटरी के पास गिर गयी. इसी बीच, ट्रेन चल पड़ी. नवजात शिशु के रोने की आवाज सुनकर प्लेटफार्म पर मौजूद लोगों ने शोर मचाया जिसे सुनकर कुछ यात्रियों ने जंजीर खींचकर रेलगाड़ी को रकवाया. इस बीच, कुछ लोगों ने बच्ची को रेलवे ट्रैक से उठाया.

श्रीवास्तव ने बताया कि सूचना मिलने पर राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) के कांस्टेबल नकुल कुमार और जीआरपी थाने के मुंशी रिषिपाल सिंह ने एम्बुलेंस मंगवायी और जच्चा-बच्चा को भोजीपुरा स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भेजा.

स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी डाक्टर सौरभ ने बताया कि पुष्पा और उसकी बेटी बिल्कुल स्वस्थ हैं. बच्ची को खरोंच तक नहीं आयी है.

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें