loading...

nan

loading...
कितना मुश्किल होता है ना सुबह-सुबह अपने नर्म बिस्तर से निकलना? और बात जब एक्सरसाइज करने के लिए उठने की हो तो हमारा आलस दोगुना बढ़ जाता है। कभी हम खुद से बिजी होने का बहाना बनाते हैं तो कभी थके होने का। घड़ी का अलार्म बजा नहीं कि हम एक्सरसाइज को कल पर टाल देते हैं। अगर आपकी भी कहानी कुछ ऐसी है तो आपको 97 साल की नानाम्मल से प्रेरणा लेनी चाहिए।

.

.

कोयंबटूर (तमिलनाडु) की नानाम्मल 97 की उम्र में भी वह योग के सभी आसन कर लेती हैं। कोयंबटूर के पोल्लाची इलाके के नजदीक जामिन कलियापुरम में जन्मी नानाम्मल की ओर से योग के लिए दिए गए योगदान को खारिज नहीं किया जा सकता है। इस उम्र में भी वह 50 तरह के आसनों को पूरी मुस्तैदी के साथ करती हैं।1920 में जन्मी नानाम्मल के परिवार की पांच पीढ़ियां योग से जुड़ी हुई हैं। वह खुद महज 5 साल की उम्र से नियमित योगाभ्यास करती हैं। उन्होंने अपने दादा जी से योग सीखा था। उनके दो बेटे और तीन बेटियां हैं, सभी का जन्म नॉर्मल डिलिवरी से ही हुआ। नानाम्मल के सभी बेटे और बेटियां फिलहाल अलग-अलग जगहों पर योग टीचर के तौर पर काम कर रहे हैं। नानाम्मल की फिटनेस आज भी गजब की है और वह अस्पताल नहीं गई हैं। वह लोगों को योग से होने वाले फायदों के बारे में भी बताती हैं।

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें