अब चीन और पाक की नापाक हरकत पर रहेगी अवाक्‍स की निगाह

Read Also : भंसाली के समर्थक शेखर सुमन के घर पंहुची राजपूत सेना, ये दिया था विवादित बयान

नई दिल्ली (13 फरवरी) : अगर देश की आसमानी सरहद से दुश्मन का कोई लड़ाकू विमान, क्रूज मिसाइल या फिर ड्रोन देश में घुसने या फिर हमला करने की कोई भी नापाक कोशिश करे तो उसकी अब खैर नहीं होने वाली क्योंकि अब उसकी ऐसी नापाक हरकत का जवाब देने के लिए भारतीय वायुसेना को देसी आसमानी दिव्य आंख मिलने जा रही है।

Read Also : सामने आया बड़ा घोटाला! 16 साल से सेना दे रही थी कश्मीर की ज़मीन का किराया, CBI जाँच शुरू

वायुसेना को मिलने जा रहा “एयरबॉर्न अर्ली वार्निंग एंड कंट्रोल सिस्टम” यानी अवाक्‍स करीब 400 किलोमीटर तक दुश्मन की हर हरकत पर नजर रखेगा। बेंगुलरु में शुरू होने जा रहे एयररो इंडिया शो में इसे भारतीय वायुसेना में शामिल कर लिया जाएगा। 14 फरवरी को डीआरडीओ की ओर से वायुसेना को इससे अच्छा वैलेंटाइन गिफ्ट कुछ और नहीं हो सकता है! ऐसे और दो सिस्टम वायुसेना में शामिल होंगे।

Read Also : भारतीय सेना के जवानों व उनके परिवारों के साथ है! सीमा पर तैनात हर फौजी का साथ देंगे?

यह अवाक्‍स पूरी तरह से देश में ही बना स्वदेशी प्रोडक्ट है। इसमें कई ऐसे अत्याधुनिक उपकरण लगे हैं जो देश में ही बनकर तैयार हुए हैं। इसी साल 26 जनवरी को राजपथ पर भी देसी “अवाक्स” की उड़ान लाखों लोग देख चुके हैं। इसके आने से पाकिस्तान और चीन से मिलने वाली आसमानी चुनौती से निपटना पहले से बहुत आसान हो जाएगा क्योंकि इसके आने से वायुसेना का सुरक्षा घेरा काफी मजबूत हो जाएगा। एयरबोर्न निगरानी सिस्टम से हवाई युद्ध में काफी असर पड़ेगा।

Read Also : बहुत हो चूका ढिंढोरा, सेना के कंधे पर बैठकर राजनीति करना बंद करे सत्ताधारी पार्टीयां !

अगले पृष्ठ पर पूरी खबर पढ़िये