loading...

इस गांव में कोई शराबी नहीं, मुगलकाल से नहीं खाया किसी ने मांस और प्याज

loading...
सहारनपुरः विश्व प्रसिद्ध नगर देवबंद से आठ किलोमीटर दूर मिरगपुर एक ऐसा अनूठा गांव है, जो अपने विशेष रहन सहन और सात्विक खानपान के लिए जाना जाता है। इस गांव में ना तो कोई शराबी है और ना ही कोई नॉनवेज खाता है। यहां तक कि लोग प्याज और लहसून तक भी नहीं छूते। गांव के लोग बाहर जाकर भी इन चीजों को नहीं खाते। शराब, पान, बीड़ी, सिगरेट, सिगार,  हुक्का, गुटखा, गांजा, अफीम और भांग खाने वाला भी कोई नहीं मिलेगा। यह परंपरा मुगलकाल से चली आ रही है।

1 of 3
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें