loading...

नीरज जोशी ने वित्त मंत्रालय को RTI डालकर पूछा था कि, “भारत सरकार और राज्य सरकारों को मिलाकर कुल कितना विदेशी कर्ज है, इनमें से कितना रुपया IMF और WORLD BANK का है और कितना अन्य देशों का है? प्रतिवर्ष कितना रुपया विदेशी कर्ज का ब्याज चुकाने में खर्च होता है?”
maxresdefaultवित्त मंत्रालय की तरफ से जो आंकड़े उपलब्ध करवाये गए .. पढ़िये –

बैंक शब्द का जन्म कैसे हुआ? ये शब्द कैसे अस्तित्व में आया? दुनिया में ज्यादा चर्चा नही हुई

loading...

.
भारत का कुल विदेशी ऋण जून, 2015 के अंत तक 3075785 करोड़ रुपये तक पहुंच चुका है। इनमें से IDA का 158465 करोड़, अंतराष्ट्रीय पुनर्निमाण और विकास बैंक का 79315 करोड़ रुपये और IMF के 35671 करोड़ रुपये बकाया है।

भारत के बैंकों को चाहिए 140 अरब डालर : फिच रेटिंग्स

Next पर क्लिक कर पढे पूरी खबर….. 

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें