loading...

पोप ने मुस्लिम प्रवासियों के पांव धोकर चूमा

loading...

ब्रसेल्स हमलों के बाद भड़की मुस्लिम विरोधी भावनाओं के बीच पोप फ्रांसिस न मुस्लिम, ईसाई एवं हिंदू शरणार्थियों को एक ही ईश्वर की संतान बताते हुए उनके पैर धोए और उन्हें चूमा।

रोम के बाहर, कैसलनुओवो दी पोतार स्थित एक शरणार्थी आश्रम में ईस्टर कर प्रार्थना सभा के दौरान फ्रांसीस ने ब्रसेल्स नरसंहार को युद्ध का संकेत बताते हुए उसकी निंदा की और कहा कि हथियार उद्योगों की कृपा से खून के प्यासों लोगों ने इस नरसंहार को अंजाम दिया।

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...