loading...
बात नहीं बनी तो अब सूबे में खाट सभा कर रहे पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गाँधी के नाम के आगे पंडित राहुल गाँधी लिखकर पोस्टर चिपकाये जा रहे हैं।
loading...
बात नहीं बनी तो अब सूबे में खाट सभा कर रहे पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गाँधी के नाम के आगे पंडित राहुल गाँधी लिखकर पोस्टर चिपकाये जा रहे हैं।

नई दिल्ली : पिछले 27 सालों से सत्ता से नदारद कांग्रेस ने पहले तो ब्राह्मण वोट हथियाने को लेकर शीला दीक्षित को CM का चेहरा बताकर यूपी में पेश किया। बात नहीं बनी तो अब सूबे में खाट सभा कर रहे पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गाँधी के नाम के आगे पंडित राहुल गाँधी लिखकर पोस्टर चिपकाये जा रहे हैं। जिसके चलते अगले साल यूपी में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ ब्राह्मण वोट जुड़ सके।

यूपी की 1 / 3 सीटों पर ब्राह्मण वोट बैंक की निर्णायक भूमिका 

सूत्रों के मुताबिक देश का सबसे बड़ा राज्य कहे जाने वाले यूपी की 403 विधानसभा सीटों में से करीब एक बटे तीन सीटों पर ब्राह्मण वोट बैंक ही चुनाव में अपनी निर्णायक भूमिका अदा करता है। इसलिए सूबे के चुनाव की बागडोर संभालने वाले कांग्रेस के प्रशान्त किशोर इस बात पर पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को जोर देने पर लगे हैं कि अगर कांग्रेस को दोबारा से अपनी खोई हुई सियासत का सिंहासन हासिल करना है तो उन्हें घर-घर जाकर ब्राह्मण वोट बैंक को कांग्रेस से जोड़ना पड़ेगा, तभी उन्हें अपने मकसद में कामयाबी हासिल हो सकेगी।

Next पर क्लिक से अगले पृष्ठ पर पढे… 

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें