loading...

kolkata-1455634510

loading...
कोलकाता: दिल्ली की जवाहरलाल यूनिवर्सिटी (JNU) के बाद अब कोलकाता की जाधवपुर यूनिवर्सिटी में भी देशविरोधी नारे लगाने का मामला सामने आया है। आरोप है की छात्रों ने प्रोटेस्ट मार्च के दौरान देशविरोधी नारे लगाए हैं। प्रदर्शनकारियों ने आतंकी अफजल के समर्थन में नारेबाजी की।

वहीं, जेएनयू में आज भी कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी के खिलाफ हड़ताल रही। लेफ्ट और राइट विंग के छात्र संगठनों के बीच भिड़ंत भी हो गई। लेकिन सबसे अहम बात ये है कि जेएनयू की अपनी जांच कमेटी मानती है कि देशविरोधी नारे लगाने वालों में कन्हैया कुमार शामिल थे। 9 फरवरी के तमाम वीडियो देखकर हाई लेवल इंक्वायरी कमेटी ने पाया है कि कन्हैया कुमार और उमर खालिद समेत 8 छात्रों ने आपत्तिजनक नारेबाजी की थी।

आरोपियों में अनिर्बन भट्टाचार्य, आशुतोष कुमार, रामा नागा, अनंत प्रकाश, ऐश्वर्या अधिकारी और श्वेता राज भी शामिल हैं। इन छात्रों को यूनिवर्सिटी की इंक्वायरी कमेटी के सामने पेश होने को कहा गया है। जांच पूरी होने तक ये छात्र किसी भी शैक्षणिक गतिविधि में शामिल नहीं हो पाएंगे।

जेएनयू की इंटरनल जांच रिपोर्ट ये भी बताती है कि 9 फरवरी के आयोजन के लिए कैसे यूनिवर्सिटी प्रशासन की आंखों में धूल झोंकी गई थी। छात्रों ने पहले कविता का प्रोग्राम बताकर यूनिवर्सिटी से इजाजत मांगी थी, लेकिन बाद में इसे अफजल गुरूऔर मकबूल भट्ट के लिए हमदर्दी का मंच बना दिया गया।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें