loading...

jhjh

loading...

जम्मू। लेह-लद्दाख में जंस्कार वैली में 2550 साल पुरानी एक जगह पर पहली बार बल्ब जला है। इस जगह का नाम ‘फुकतल गॉन्पा मॉनेस्ट्री’ है। चंडीगढ़ के पारस लूंबा के प्रयासों से लगाए गए सोलर माइक्रो-ग्रिड्स से यह मॉनेस्ट्री पहली बार रोशन हुई। यहां खुशी के मारे लोगों के आंसू नहीं थम रहे थे। पहली बार LED बल्ब देखकर कुछ लोग रोने लगे तो कुछ पूजा करने लगे। वहीं, कुछ ने पूछा कि इसमें तेल कहां से आ रहा है।

Read Also > एक साथ 20 सैटेलाइट्स को ब्रह्मांड में भेजकर ISRO ने बनाया नया रिकॉर्ड

यहां के लोगों के लिए यह किसी चमत्कार से कम नहीं था। वह रोशनी के हर पल का एहसास लेना चाहते थे। शायद इसलिए जब मॉनेस्ट्री रोशनी से जगमगा उठी तो पहले दिन लोग लाइट जलाकर सोए, क्योंकि वह इस बात से डर रहे थे कि क्या पता लाइट बंद कर दी तो दोबारा जले-न-जले।

1 of 4
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें