loading...

मान लीजिए, आप किसी नेता को पसंद करते हैं। इस कदर पसंद करते हैं कि उसके भक्त ही बन जाते हैं और उसके खिलाफ़ एक शब्द सुनना गवारा नहीं करते। ऐसे में एक आदमी आपके भगवान को चैलेंज करता है और इतनी मजबूती से चैलेंज करता है कि आपके भगवान के पसीने छूटने लग जाते हैं। तब आप क्या करते हैं?

यदि आप मोदी के समर्थक होंगे तो आप उस आदमी को बदनाम करने में जुट जाएंगे। और इस कोशिश में हर तरह की जालसाज़ी और फ़रेब करेंगे। जब 2013 में अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में बीजेपी और कांग्रेस को चुनौती दी तो एक मोदीभक्त ने ऐसा ही किया। देखिए, नीचे की पोस्ट।Kejriwal-post

loading...
यह पोस्ट आशीष राजपूत ने फेसबुक पर शेयर की है। इसकी हेडिंग है – केजरीवाल की संपत्ति 1 अरब से ज़्यादा। देखने से ऐसा लगता है कि यह किसी अखबार की रिपोर्ट है। कुछ ज़्यादा ध्यान से देखेंगे तो पता चलेगा कि इसमें एनबीटी लिखा है। तो भई, जब नवभारत टाइम्स ने लिखा है तो सही ही लिखा होगा क्योंकि लोग आज भी अखबार में छपी रिपोर्टों को सही मानते हैं। तो क्या वाकई आम आदमी की बात करनेवाले और उसके समर्थन से सत्ता में आनेवाले अरविंद केजरीवाल के पास इतनी संपत्ति है?

Next पर क्लिक कर पूरी सच्चाई जरूर पढ़े….. 

1 of 3
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें