loading...

chin

loading...

संवादाता अवेर प्रेस

भारत ने चीन के तीन पत्रकारों का वीसा बढ़ाने से इनकार कर दिया जिस पर चीनी मीडिया ने तीखी प्रतिक्रिया जाहिर की है। चीन के एक सरकारी अखबार ने चेतावनी दी है कि इस कदम के गंभीर नतीजे होंगे।

यह भी पढ़े > दोस्ती की आड़ मेंं चीन ने पाकिस्तान के साथ किया ऐसा कारनामा, अब सिर पीट रही है ISI

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है कि चीन ने एनएसजी सदस्यता के लिए भारत की दावेदार का समर्थन नहीं किया था और उसी का बदला लिया जा रहा है। ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है कि तीन पत्रकारों का वीसा न बढ़ाकर भारत तुच्छता का प्रदर्शन किया है। अखबार के मुताबिक वीसा न बढ़ाए जाने के लिए कोई आधिकारिक कारण नहीं दिया गया है।

fati chin kee

अखबार लिखता है, “ऐसी अटकलें सुनने में आ रही हैं कि भारत चीन से एनएसजी में समर्थन ना करने का बदला ले रहा है। अगर यह बात है तो इसके नतीजे गंभीर होंगे” अखबार के संपादकीय का शीर्षक हैः भारत की ओछी हरकत।

यह भी पढ़े > NSG के लिए 48 में से 47 देशों का मिला सपोर्ट, बस चीन ने PAK की वजह से किया मना

भारत ने तीन चीनी पत्रकारों का वीसा बढ़ाने से इनकार कर दिया है. उनमें एक दिल्ली के ब्यूरो चीफ वू कियांग हैं। बाकी दो रिपोर्टर मुंबई में हैं। तांग लू और मा कियांग दोनों ही सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के रिपोर्टर हैं। उनका वीसा इस महीने के आखिर में खत्म हो रहा है। उन्होंने कुछ महीनों के लिए वीसा मांगा था जब तक कि उनकी जगह लेने के लिए नए लोग ना आ जाएं। लेकिन भारत सरकार ने वीसा बढ़ाने से इनकार कर दिया।

यह भी पढ़े > चीन से नहीं डरेगा भारत, ब्रम्होस मिसाइल बेचने की कोशिशें तेज

यह भी पढ़े > NSG पर ज्यादातर देशों का समर्थन, पर चीन ने खड़ी की दीवार

यह भी पढ़े > मुट्ठीभर भारतीय जवानों ने आख़िरी सांस तक लिया था 5 हजार चीनी सैनिकों से लोहा

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें