loading...

इस ब्लॉग में दिखाई गई कुछ तस्वीरें आपको व्यथित और विचलित कर सकती हैं। हमने उसका इस्तेमाल केवल सच को सामने लाने के लिए किया है। हम ऐसी तस्वीरों के प्रचार और प्रसार के घोर विरोधी हैं।

भारत के मौजूदा सामाजिक और राजनीतिक परिवेश में गाय का विशेष महत्व हो गया है। देश में गौहत्या पर पूर्ण प्रतिबंध की आवाज़ ज़ोर पकड़ रही है। आलम यह है कि गायों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाते वक़्त पकड़े जाने पर भी लोगों की पिटाई की जा रही है। इन हालात में सोशल मीडिया पर इन दिनों ‘तिरंगे’ पर गाय काटते हुए दिखा रही एक तस्वीर शेयर हो रही है। इस तस्वीर को देखकर लोगों की भावनाएँ बुरी तरह आहत हो रही हैं क्योंकि इसका ताल्लुक़ ‘कश्मीर’ से बताया गया है। क्या है उस तस्वीर का सच, यह आज हम आपको बताएंगे। तस्वीर देखें,

amit-awasthi

loading...

अमित अवस्थी ने इन तस्वीरों को ‘100 करोड़ हिंदुओं का ग्रुप रक्त रक्त में भगवा’ नाम के फ़ेसबुक पेज पर गत 5 मई को डाला था। इसे साढ़े सात हज़ार से भी ज़्यादा बार शेयर किया गया है। इसके कैप्शन में अमित ने लिखा है, ‘कशमीर में तिरगे के उपर रख कर गाय को काटा।।अब हिदुसतानी नेता दुख प्रगट करेंगे सिर्फ दुख।। भाई लोगों अगर आपने गाय माता का दूध पिया हैै तो आपको उस दूध की कसम है इन फोटो को पुरे भारत में फैला कर दूध का कर्ज चुकाओ।…और हां…सिर्फ कट्टर हिन्दू ही शेयर करेगा।’

पोस्ट में और भी तस्वीरें हैं जिनसे यह दिखाने की कोशिश की गई है कि ‘कश्मीर’ में गाय काटने और तिरंगा जलाए जाने के बाद वहाँ के हालात दंगे जैसे हो गए जिसमें पुलिस भी घायल हुई। आप यहाँ क्लिक करकेयह पोस्ट देख सकते हैं।

लेकिन हम आपको बता दें कि इन सभी तस्वीरों का गाय के मारे जाने के बाद दिखाए गए बवाल से कोई लेना-देना नहीं है। क्योंकि इन सभी तस्वीरों का गाय काटने वाली तस्वीर से ही कोई संबंध नहीं है। भला ऐसा क्यों?

ऐसा इसलिए क्योंकि यह तस्वीर कश्मीर की है ही नहीं। हालाँकि तस्वीर में दिख रहे लोगों के हाथों में पाकिस्तान का झंडा ज़रूर दिख रहा है, लेकिन इस पर कोई शक नहीं करेगा। क्योंकि कश्मीर में पाक झंडे लहराए जाने की ख़बरें आती रहती हैं।

लेकिन हक़ीक़त यही है कि यह तस्वीर कश्मीर की नहीं, बल्कि पाकिस्तान के बलूचिस्तान की है जहाँ पिछली साल कुछ लोगों ने भारत का विरोध किया था। देखें,

getty

gettyimages.in पर दिख रही यह वही तस्वीर है जो ऊपर हमने आपको दिखाई। लेकिन यह अलग ऐंगल से ली गई है। हालाँकि इसमें गाय नहीं है, लेकिन दोनों तस्वीरों पर ग़ौर करें तो इस तस्वीर में सामने के तीनों लोगों ने किसी चीज़ पर पैर रखा हुआ है। ऊपर की तस्वीर देखकर पता चल जाता है वह चीज़ गाय है। ख़ैर, जैसे ही आप इस तस्वीर क्लिक पर करते हैं, आपको यह दिखता है।

information

इस जानकारी में लिखा है कि 23 मार्च, 2015 को प्रतिबंधित संगठन जमात-उद-दावा के लोगों ने पाकिस्तान के बलूचिस्तान के मुख्य नगर क्वेटा में भारत के ख़िलाफ़ विरोध करते हुए झंडा जलाया। आपयहाँ क्लिक करके यह ख़बर देख सकते हैं।

फिर भी, अगर आपके मन में इस तस्वीर के पाकिस्तान की होने को लेकर कोई दुविधा या शंका रह जाती है, तो उसे भी हम दूर कर देते हैं। ऊपर जो तस्वीर हमने आपको दिखाई, उसमें लाल आकृतियों वाले हिस्सों को देखें,

close-up

आप देखेंगे कि पीछे एक पोस्टर है जिसमें एक बाइकसवार अपने पैर के जूते या शायद सैंडल को छूते हुए दिख रहा है और उसके ठीक सामने गोल घेरे में लिखा है DIGGER। यह DIGGER क्या है?

DIGGER पाकिस्तान में जूता-सैंडल बनाने वाली कंपनी का ब्रैंड है। देखें,

digger

इसकी वेबसाइट पर अगर आपको ऑर्डर देना है तो आपका पाकिस्तानी होना ज़रूरी है। क्योंकि डिलीवरी वहीं के किसी शहर में होगी। देखें,

city

ऑर्डर देने के लिए आपको कराची, लाहौर, इस्लामाबाद जैसे पाकिस्तानी शहरों में होना चाहिए। गूगल करने पर भी आप इसकी जानकारी ले सकते हैं। आपकी सुविधा के लिए हम यहाँ लिंक दे रहे हैं

अब बात इस झूठे पोस्ट की बाक़ी तस्वीरों की। उन पर तो अब आप खु़द ही अंदाज़ा लगा सकते हैं, कि जिस तस्वीर के आधार पर उन्हें साथ में शेयर किया गया वह आधार ही झूठा है तो बाक़ी कैसे सच हो जाएंगी। वे तस्वीरें भारत में हुईं अलग-अलग घटनाओं की हैं।

तो यह था सांप्रदायिक तनाव फैला रही इस झूठी तस्वीर का सच। संभव है गाय को मारने वालों का मक़सद विरोध के नाम पर यहाँ के लोगों की भावनाओं को आहत करना हो, लेकिन दूसरे देश (जिसे हम दुश्मन समझते हैं) की तस्वीर को अपना बताने के पीछे अमित अवस्थी जैसे लोगों की भला क्या मंशा हो सकती है! हम तो इतना ही कहेंगे, कि वैचारिक रूप से कमज़ोर लोग ही झूठ का सहारा लेते हैं। वक़्त पड़ने पर ‘दुश्मन’ का भी ‘सहारा’ ले सकते हैं। इस झूठ को शेयर करने वाले अमित अवस्थी की प्रोफ़ाइल देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

इस तस्वीर के बारे में हमारे पाठक ने हमें बताया। पाठक महोदय आपका शुक्रिया!

आप भी हमें इस तरह की Exopse न्यूज़ भेजना चाहते है तो यहाँ Click करे ……

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें