loading...

इलाहाबाद : साल 2013 में इलाहाबाद में जिस धर्म संसद से नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाने की मांग उठी थी, ढाई साल बाद शनिवार को उसी धर्म संसद ने पीएम मोदी पर सवाल उठा दिए हैं। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण पर मोदी की चुप्पी से निराश साधु-संतों ने सवाल किया है कि प्रधानमंत्री अयोध्या पर मन की बात क्यों नहीं करते हैं?111

loading...
शनिवार को आयोजित धर्म संसद में एक बार फिर साधु-संतों ने राम मंदिर का मुद्दा उठाया। इस दौरान पीएम मोदी की चुप्पी पर सवाल उठे, तो सरकार की मंशा पर भी चर्चा हुई। कुछ संतों ने ये अल्टीमेटम भी दे दिया कि अगर राम मंदिर का सपना पूरा नहीं हुआ, तो साधु-संत सड़कों पर निकलेंगे।

संतों ने पीएम मोदी से सवाल किया कि जब वो स्वच्छता समेत तमाम मुद्दों पर मन की बात करते हैं तो फिर राम मंदिर पर मन की बात क्यों नहीं करते?

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें