loading...

28 जनवरी 2014 को पंजाब के नूर महल आश्रम के कई साधकों से उनके पूज्‍य गुरुदेव आशुतोष महाराज जी अलग-अलग मिले और उन्‍हें कुछ निर्देश दिया। उन्‍होंने दिल्‍ली सहित अपने अनेक आश्रमों में मौजूद अपने कई निकटवर्ती साधकों को टेलीफोन किया और उन सबको भविष्‍य के नए निर्माण के लिए बिना घबराए तैयारी करने को कहा। 11203094_1579714795638235_384229482691724714_n

loading...
सबके लिए उनका एक ही संदेश था कि अब भारत में ‘भगवा क्रांति’ का वक्‍त आ गया है! मेरी लीलाओं से तुम लोग घबराना नहीं, बल्कि अपनी समाधि को गहन से गहनतम करते चले जाना! धर्मक्षेत्र भारत बहुत बड़े परिवर्तनों से गुजरने वाला है!

1 of 7
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...