loading...

नई दिल्ली: देश में भले ही नागरिकों को अभी ‘राइट टू फूड’ ना मिला हो लेकिन बुंदेलखंड के महोबा जिले में ये मुमकिन हो रहा है. बुंदेलखंड के सबसे पिछड़े जिलों में से एक महोबा में ‘राइट टू फूड’ को अमल में लाने का काम शुरु हो गया है. 40 युवाओं और 5 वरिष्ठ नागरिकों द्वारा चलाया जा रहा ‘रोटी बैंक’ लोगों के घर-घर जाकर उन्हें घर की बनी रोटी और सब्जी मुहैया करा रहा है.food”रोटी बैंक में शामिल युवा घर-घर जाकर लोगों से दो रोटी दान करने को कहते हैं ताकि जरूरतमंद और भूखे लोगों को खिलाया जा सके. इस अभियान की शुरुआत अप्रैल में हुई थी, जो कि अब एक आंदोलन में बदल चुका है. इस मुहिम के जरिए हर रोज कम से कम 400 जरूरतमंद लोगों को खाना खिलाया जा रहा है.”          गायों को बचाने की मुहिम में जुटा है यह भारत का मुसलमान

loading...

पूरी जानकारी पढ़ने के लिए व विडियो देखने के लिए Next क्लिक जरूर करे…. 

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें