loading...
मुंबई। रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने गुरुवार को स्पष्ट किया है कि शक संवत कैलेंडर के अनुसार तारीख लिखे चैक भी स्वीकार्य होंगे, बशर्ते कि चैक पूरी तरह हिन्‍दी में लिखा गया हो
loading...

केंद्रीय बैंक ने गुरुवार को एक अधिसूचना जारी कर सभी सहकारी बैंकों को सलाह दी है कि यदि कोई चैक हिन्‍दी में लिखा गया है और इस पर शक संवत में तारीख लिखी हुई है तथा कोई अन्य गड़बड़ी नहीं है तो वे इसे स्वीकार कर लें।

आरबीआई ने कहा, भारत सरकार ने 22 मार्च 1957 को शक संवत को राष्ट्रीय कैलेंडर के रूप में स्वीकार किया था और सरकार के सभी संवैधानिक आदेश, अधिसूचना, संसद के कानून आदि में शक संवत तथा अंग्रेजी कैलैंडर दोनों में तारीख लिखी होती है। इसलिए हिन्‍दी में लिखे चैक पर यदि हिन्‍दी में तारीख लिखी है तो यह मान्य है।
उसने बैंकों को हिदायत दी है कि वे शक संवत तारीख वाले चैक पर पड़ी तारीख का मिलान अंग्रेजी कैलेंडर से कर यह सुनिश्चित कर लें कि चैक मियाद की सीमा पार नहीं कर चुकी है। (वार्ता)  share 1
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें