loading...

जब मोटापा बहुत अधिक बढ़ जाता है तो उसे घटाने के लिए अधिकांश लोग
घंटो पसीना बहाते रहते हैं।

जबकि मोटापा घटानेके लिए सिर्फ भोजन शैली में सुधार जरूरी है। कुछ प्राकृतिक चीजे ऐसी हैं जिनके सेवन से वजन नियंत्रित रहता है।

आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसी छोटे-छोटे नुस्खे जिनसे आप बहुत जल्दी अपने बढ़ते वजन को कंट्रोल कर पाएंगे।

  • शराब और दूध निर्मित पदार्थ का उपयोग न करें।
  • अदरक को व नींबु को काटकर दोनों पानी में ऊबालें ठंडा कर पीएं।
  • रोज 750 ग्राम फल और सब्जी का उपयोग करें।
  • ज्यादा कर्बोहाइड्रेट वाली वस्तुओं का परहेज करें।

शक्कर,आलू, और चावल में अधिक कार्बोहाईड्रेट होता है। ये चर्बी बढ़ाते हैं।

  • केवल गेहूं के आटे की रोटी की बजाय गेहूं सोयाबीन,चने के मिश्रित आटे की रोटी ज्यादा फायदेमंद है।
  • भोजन मे ज्यादा रेशे वाले पदार्थ शामिल करें।
    हरी सब्जियों ,फलों में अधिक रेशा होता है।

  • फलों को छिलके सहित खाएं। आलू का छिलका न निकालें।

  • चम्मच शहद आधा चम्मच नींबू का रस गरम जल में मिलाकर लेते रहने से शरीर की अतिरिक्त चर्बी नष्ट होती है। यह दिन में 3 बार लेना चाहिए।

  • पत्ता गोभी में चर्बी घटाने के गुण होते हैं। इससे शरीर का मेटाबोलिज्म ताकतवर बनता है।

  • पुदीना रस एक चम्मच 2 चम्मच शहद में मिलाकर लेते रहने से मोटापा कम
    होता है।

  • सुबह उठते ही 250 ग्राम टमाटर का रस 2-3 महीने तक पीने से शरीर की वसा में कमी होती है।

  • गाजर का रस मोटापा कम करने में उपयोगी है।

  • करीब 300 ग्राम गाजर का रस दिन में किसी भी समय लें।

    • दिन भर में कम से कम 20 गिलास पानी पीएं।

    • कम कैलोरी वाले खाद्य पदार्थों का उपयोग करें।

    • नींबू, जामफल, अंगूर, सेवफल, खरबूज, जामुन, पपीता आम, संतरा, पाइनेपल, टमाटर, तरबूज, स्ट्राबेरी आदि को भोजन में शामिल करें।

    • पत्ता गोभी, फूल गोभी, ब्रोकोली, प्याज, मूली ,पालक, शलजम, सौंफ, लहसुन
      आदि का ज्यादा सेवन करें।

    • कम नमक,कम शकर आदि का उपयोग करें।

    मोटापा कम करने के लिए ध्यान :-

    • कई लोग सोचते है की नियंत्रण में भोजन करेंगे ; पर वे अधिक और गलत भोजन कर लेते है ; फिर पछताते है जिसका कोई फायदा नहीं होता .
    • इसके लिए आइये एक ध्यान सीखते है . कुछ अंगूर ले लें … काले , पीले , हरे , कैसे भी ले . – अब आँख बंद कर सुखासन (आलती पालती ) में बैठ जाए .अब हाथों में एक अंगूर ले लें . उसे बंद आँखों से महसूस करे . वह ठंडा है या गरम , गोल है , चिकना है और अन्य
      बातें महसूस करे .
    • अब उसे मुंह में रखे . अभी चबाये नहीं . उसे जीभ से महसूस करे . जीभ से उसे मुंह में इधर उधर घुमाए और उसकी गोलाई और उसके स्वाद के बारे में सोचे .मुंह में बनने वाली लार को महसूस करे .
    • अब उसे एक बार चबाये और उससे निकलने वाले रस को महसूस करे . उसे निगले नहीं ; मुंह में ही इधर उधर घुमाए .वह कैसे स्वाद है ….मीठा , खट्टा ,महसूस करे
    • अब कुछ धीरे चबा कर निगल ले . सोचे की भगवान ने क्या कमाल के अंगूर बनाए है हमारे लिए ताकि हम स्वस्थ
      रहे और हमारे शरीर का विकास हो .भगवान को मन ही मन धन्यवाद दे .
    • अब तक हमने टनों अंगूर खा लिए होंगे पर ऐसा स्वाद कभी नहीं चखा होगा .

    • कई लोग जल्दी जल्दी बहुत सारा खाना खा लेते है . पर मन संतुष्ट नहीं होता . फिर वे और खाते है .ऐसे खाने से वह पचता भी नहीं . फिर कई टॉक्सिंस भी बनते है जो हमें बीमार कर देते है . और मोटापा भी बढ़ता है .

    • यहीं तरीका हर समय भोजन के पहले अपनाए ; तो थोड़े में ही भूख भी मिटेगी और मन संतुष्ट होगा . भोजन अच्छे से
      पचेगा . – इसीलिए हमें टीवी देखते देखते , बातें करते , पढ़ते पढ़ते नहीं खाना चाहिए . हमारा ध्यान पूरी तरह खाने पर ही हो

    CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

    loading...
    शेयर करें