loading...

rahul-gandhi

loading...

 

 

 

 

 

 

 

नई दिल्ली,  कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को मोदी सरकार को निशाने पर लिया. सोनिया गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ‘सांप्रदायिक और विभाजनकारी राजनीति’ कर रही है, ‘कांग्रेस की विरासत को ध्वस्त करने और इतिहास को फिर से लिखने की कोशिश’ कर रही है. सोनिया और राहुल ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की 98वीं जयंती पर युवक कांग्रेस के एक कार्यक्रम में मोदी सरकार की नीतियों की आलोचना की. सोनिया गांधी ने आरोप लगाया, “सरकार सुनियोजित तरीके से कांग्रेस की विरासत को ध्वस्त कर रही है”, जबकि राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने खास लोगों के जरिए उन पर निशाना लगा रहे हैं.

राहुल ने कार्यकर्ताओं के जोश भरे समर्थन के बीच कहा, “मैं एक बात कहना चाहता हूं मोदीजी. आपके पास एजेंसियां हैं. अपनी 56 इंच की छाती दिखाइए. जांच कराइए. अगर छह महीने के अंदर कुछ मिले तो मुझे जेल में डाल दीजिए. जो गंदगी आप मुझ पर, मेरे परिवार पर फेंक रहे हैं..मुझे जेल भेजिए अगर मैंने कुछ गलत किया है.” राहुल की यह प्रतिक्रिया भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी के इस आरोप पर आई है कि राहुल ब्रिटिश नागरिक हैं. स्वामी ने कहा था कि राहुल की भारतीय नागरिकता छीन लेनी चाहिए और उन्होंने इस बारे में मोदी और लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन को पत्र लिखा है. 

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें