loading...

आजतक भारत : 08 DEC ’15

Baba-Ramdev-800x400
loading...
फोटो | आईएएनएस

बाबा रामदेव के ‘भारत स्वाभिमान अभियान’ के राष्ट्रीय सचिव रहे राजीव दीक्षित के करीबी सहयोगी योगेश कुमार मिश्र ने बाबा रामदेव को एक कानूनी नोटिस भेजा है. इलाहाबाद उच्च न्यायालय के अधिवक्ता मिश्र का आरोप है कि पतंजलि के उत्पादों के बारे में बाबा रामदेव के दावे झूठे हैं. योगेश मिश्र से बातचीत:

आजतक भारत : आपने बाबा रामदेव को कानूनी नोटिस भेजा है. यह किस सन्दर्भ में है?

योगेश मिश्र : बाबा रामदेव झूठे विज्ञापन कर रहे हैं. वे दावा करते हैं कि उन्होंने कर्नाटक और महाराष्ट्र में एक चेन स्थापित की है जहां से उन्हें भारतीय गोवंश का दूध मिलता है और इससे वे प्रतिदिन एक लाख लीटर देसी घी बना रहे हैं. उनका यह दावा इसलिए झूठा है क्योंकि भारतीय नस्ल के गौवंश की संख्या लगातार घट रही है. ऐसे में उन्हें प्रतिदिन एक लाख लीटर घी बनाने के लिए दूध कहां से मिल रहा है? वे निश्चित ही विदेशी गोवंश के दूध से घी बना रहे हैं. हम काफी समय से उनसे मांग कर रहे हैं कि वे या तो इस बात को स्वीकार करें या फिर साबित करें कि पतंजलि के घी में सिर्फ भारतीय गोवंश के दूध का ही इस्तेमाल हो रहा है. वे हमेशा इस सवाल से बचते रहे हैं. इसीलिए बीती 29 नवम्बर को मैंने उन्हें कानूनी नोटिस भेजा है.

आजतक भारत : क्या बाबा रामदेव ने कभी यह दावा किया है कि वे सिर्फ भारतीय गोवंश के दूध से ही घी बना रहे हैं?   
1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...