loading...

DSC_5444

loading...

संवादाता/अलीगढ : कल 14 जून 2016 को वरिष्ठ अधिवक्ता श्री चंद्रशेखर दीक्षित, डॉ भगतसिंह भारती, अधिवक्ता मुनीश कुमार, पंकज कुमार, “नौजवान महासभा के अध्यक्ष हरेन्द्र सिंह” उपाध्यक्ष नवनीत तौमर, पवन भाई, अमित कुमार, रियाज खान, सोनू कुमार, संजय, आकाश आर्यन, डॉ लाल सिंह, सजल कुमार आदित्य बजरंगी, अंकित दीक्षित, सचिन और वसीम खान समेत दर्जनों लोगों ने जिलाधिकारी अलीगढ को महामहिम राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन पत्र दिया और सरकार से अविलंब स्व. राजीव दीक्षित के संधिग्ध हत्यारे रामदेव, जयदीप आर्य, राकेश मित्तल, दयासागर व प्रदीप दीक्षित सहित अन्य संधिग्ध अपराधियों को गिरफ्तार करने की मांग की।

इस अवसर पर माफिया उन्मूलन समिति के संस्थापक मदन लाल आजाद भी कचहरी में मौजूद थे और उन्होंने नौजवान महासभा के साथियों शाबाशी देते हुए कहा कि सही मायनो में आपका संगठन एक देशभक्त संगठन है जिसने वीरता और बहादुरी के साथ राजीव दीक्षित हत्याकांड को सरकार के समक्ष उठाया है और राजीव दीक्षित जी की हत्या कराने के बाद स्वदेशी के नाम पर राष्ट्र को ठगने वाले अंतराष्ट्रीय ठग रामदेव गैंग को चुनौती दी है।

नौजवान महासभा द्वारा राजीव दीक्षित हत्याकांड के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को साहसी काम बताते हुए वरिष्ठ अधिवक्ता और राजीव दीक्षित के चाचा चंद्रशे्खर दीक्षित जी ने उम्मीद जताई कि अब शीघ्र ही राजीव दीक्षित के संधिग्ध हत्यारे क़ानून की गिरफ्त में होंगे।

महासभा के संयोजक मुनीश कुमार ने कहा कि यदि 90 दिन के अंदर सरकार ने अपराधियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल नहीं भेजा तो अलीगढ शहर अक्टूबर में एक बड़े आंदोलन का केंद्र बनेगा और नौजवान महासभा राजीव भाई के हत्यारों के साथ-साथ उन्हें बचाने वाली सभी सरकारों से भी सीधी लड़ाई कोर्ट और सडकों पर लड़ेगी।

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...