loading...

ayodhya-21-12-2015-1450672457_storyimage

loading...
विहिप के प्रस्तावित माडल के अनुरुप राम मंदिर निर्माण के लिए पत्थरों की तराशी को लेकर स्थापित रामजन्मभूमि कार्यशाला का सन्नाटा जल्द ही टूट जाएगा। यहां एक बार फिर छेनी हथौड़ी की ठक ठक गूंजेगी। इस कार्यशाला में रविवार को राजस्थान के भरतपुर से करीब 15 टन पत्थरों की पहली खेप पहुंच गई।

विहिप मीडिया के अनुसार अभी करीब 75 हजार घनफुट पत्थर और आएंगे। यह पत्थर दानदाताओं की ओर से रामजन्मभूमि न्यास को दान किया गया है। इसकी प्रेरणा विहिप के पूर्व सुप्रीमो अशोक सिंहल ने अपने जीवन के अंतिम क्षणों में दी थी।

पूरी खबर Next पर क्लिक कर पढ़े…. 

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें