loading...

Pic-5

loading...

प्रस्तुत काल में एक बेहद ही उष्म सामाजिक सोद्देश्यता का विषय बनकर उभरा है: महिला सशक्तिकरण । इस काल्पनिक वार्तालाप का मुख्य केंद्र है हर एक महिला को एक अभूतपूर्व स्तर का आत्मविश्वास से परिपूर्ण जीवन जीते हुए परिस्तिथियों का जमकर सामना करने के लिए तैयार करना ।

इस दिशा में चिंतन करते हुए एक विचार मनोमस्तिष्क में उभरता है की क्यों न हम भारतवर्ष के असीम और भव्य इतिहास के पृष्ठों से प्रेरणा लें | इतिहास के इन्हीं पन्नो को खंगालते हुए आज हम जानते हैं एक ऐसी वीरांगना को जिसका उल्लेख उतना ही दुर्लभ है, जितना उनका शौर्य और पराक्रम अभूतपूर्व ।

1 of 8
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...