loading...

पंचर बनाने वाले को 77,89,00,000 रुपये का बिजली बिल थमाया

loading...
प्रतीकात्मक फोटो

चंडीगढ़: हरियाणा के फरीदाबाद में टायर मरम्मत की एक छोटी-सी दुकान चलाने वाले व्यक्ति का उस वक्त होश उड़ गया, जब उसके हाथ में 77 करोड़ 89 लाख रुपये का बिजली का बिल थमाया गया.

नई दिल्ली से लगे फरीदाबाद शहर की आदर्श नगर कॉलोनी में स्थित सुरिंदर ऑटो वर्क्‍स के मालिक ने कहा कि उसके और उसके परिवार के आश्चर्य का कोई ठिकाना नहीं रहा, जब उसे 77 करोड़ 89 लाख रुपये का बिजली का बिल मिला.

दुकानदार ने कहा, “मेरी दुकान किराए की है. मैं टायर का पंचर बनाता हूं. मेरा बिजली बिल (बिजली का) हमेशा 2000-2500 रुपये के बीच रहता है. एक बल्ब और एक पंखा इस्तेमाल करता हूं. पहले का सब बिल चुकाया हुआ है. नया बिल एक सदमे जैसा है.”

पड़ोसियों ने बताया कि इस भारीभरकम बिल के बारे में सुनकर दुकानदार की मां बीमार पड़ गई है. उसे डॉक्टर के पास ले जाना पड़ा है. बिल दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा 31 अक्टूबर को जारी किया था. यह पहला मौका नहीं है, जब हरियाणा में किसी को इस तरह का बिल मिला है.

 राज्य के सोनीपत जिले के गोहना में एक पान विक्रेता को बीते साल अक्टूबर में 132 करोड़ रुपये का बिजली बिल मिला था. इसी तरह अप्रैल 2007 में नरनौल में एक उपभोक्ता को 234 करोड़ रुपये का बिजली का बिल मिला था. संबंधित बिजली कंपनियों के अधिकारियों ने ऐसे बिल जारी होने की वजह तकनीकी और कंप्यूटर जनित गड़बड़ियां बताई है.

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें