loading...

चंढीगढ़। जाट आंदोलन को लेकर सेना की तैनाती कर दी गई है। शहरों में कर्फ्यू लगा दिया गया है और उपद्रवियों को गोली मारने के आदेश भी जारी कर दिए गए हैं लेकिन इस बीच बीजेपी और सरकार में जाट मंत्रियों ने भी शांति की कोशिश शुरू कर दी हैं। केंद्र सरकार में मंत्री और मुजफ्फरनगर से बीजेपी सांसद संजीव बालियान ने कहा कि वह हरियाणा में शांति चाहते हैं और सरकार इसे लेकर काफी सकारात्मक है।

बालियान बीजेपी के जाट नेता हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री आरक्षण को लेकर आश्वासन दे चुके हैं। जनता को अब उनपर विश्वास करना चाहिए। मैं प्रदर्शन वापस लेने की अपील करता हूं। उन्होंने कहा, ‘कहा कि हमने शांति बनाए रखने की लगातार कोशिश की लेकिन प्रदर्शनकारियों तक बात नहीं पहुंची। हम बातचीत करेंगे और शाम तक प्रयास करेंगे।’

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने प्रदर्शनकारियों से अपील की है कि वह सरकारी संपत्ति को नुकसान न पहुंचाएं। इस बीच सीएम के चंडीगढ़ आवास पर आपात बैठक भी शुरू हो गई है। इस बैठक में मंत्री राम बिलास शर्मा, कैप्टन अभिमन्यु भी शामिल हैं।

हरियाणा में आरक्षण पर जारी जाट आंदोलन के बीच आज जिले के मेहम में करीब 2000-2500 लोगों की हिंसक भीड़ ने पुलिस थाने, पेट्रोल पंप, सरकारी इमारत और बैंकेट हॉल में आग लगा दी। मेहम पुलिस थाने के उप निरीक्षक और थाना प्रभारी राजेंद्र सिंह ने बताया, ‘2000 से 2500 लोगों के एक समूह ने पुलिस थाने को आग लगा दी। उन्होंने आज हिंसक होते हुए पेट्रोल पंप, सरकारी इमारत और बैंकेट हॉल को भी आग के हवाले कर दिया। ’ उन्होंने बताया कि इलाके में तनाव की स्थिति बनी हुई है और स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए अतिरिक्त बल को तलब किया गया है।जाट आंदोलनः हिंसक प्रदर्शन जारी, जाट नेताओं की अपील भी बेअसर

loading...
रोहतक जिले में आने वाला मेहम राज्य में चल रहे जाट आंदोलन से सबसे अधिक प्रभावित होने वाला इलाका है। स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए जिले में सेना को भी तैनात किया गया है। हरियाणा में जाट आंदोलन ने उग्र रूप ले लिया है और शनिवार को भी स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए आठ जिलों- रोहतक, भिवानी, झज्जर, सोनीपत, हिसार, पानीपत, जिंद और कैथल में सेना के जवानों की तैनाती की गई है। जाट समुदाय के आंदोलन का सबसे अधिक असर रोहतक जिले में देखा जा रहा है। यहां सेना की तैनाती हेलीकॉप्टरों के जरिये की गई है, क्योंकि आंदोलनकारियों ने सेना के जवानों के प्रवेश से संबंधित सभी सड़क मार्गो को बंद कर दिया।

जाट समुदाय के लोग सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में आरक्षण की मांग कर रहे हैं। शहर में शुक्रवार रात भी लूटपाट और आगजनी की घटनाएं हुई। अनियंत्रित भीड़ ने मॉल, दुकानों और अन्य इमारतों को निशाना बनाया और इनमें से कई को आग के हवाले कर दिया। सड़कों पर नाकेबंदी के कारण सेना की तैनाती वायुसेना के हेलीकॉप्टरों के जरिये की गई। वायुसेना के हेलीकॉप्टरों ने कई खेप में जवानों को रोहतक के विभिन्न हिस्सों में पहुंचाया। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘करीब 20-30 जवानों को हेलीकॉप्टरों से रोहतक लाया गया है। उन्हें उन इलाकों में तैनात किया जाएगा, जहां जाट प्रदर्शनकारियों का सर्वाधिक प्रभाव है।’जाट आंदोलनः हिंसक प्रदर्शन जारी, जाट नेताओं की अपील भी बेअसररोहतक में प्रशासन ने सेना के फ्लैग मार्च को देखते हुए लोगों को सुबह 9.30 बजे के बाद घर से बाहर नहीं निकलने के लिए कहा है। सेना ने भिवानी में फ्लैग मार्च किया। अधिकारियों के अनुसार, यहां स्थिति नियंत्रण में है। रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली से 50 किलोमीटर दूर सोनीपत में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-1 (एनएच-1) को प्रदर्शनकारियों ने बंद कर दिया है। दिल्ली-अंबाला रेवले ट्रैक भी शुक्रवार शाम से ही बंद है। रेलवे अधिकारियों द्वारा कई ट्रेनों को रद्द किए जाने के कारण यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

एक हफ्ते पहले शुरू हुए इस आंदोलन के कारण करीब 550 ट्रेनें या तो रद्द कर दी गईं या फिर उनके मार्गों में बदलाव कर दिया गया। एक हफ्ते पहले शुरू हुए आंदोलन ने शुक्रवार को और भी उग्र रूप ले लिया, जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई और सुरक्षा बल के जवानों सहित 10 से अधिक लोग घायल हो गए। भीड़ ने रोहतक रेंज के पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) के कार्यालय पर भी हमला किया और वित्त मंत्री अभिमन्यु के घर में भी आग लगा दी।जाट आंदोलनः हिंसक प्रदर्शन जारी, जाट नेताओं की अपील भी बेअसरजाट नेता हवा सिंह सांगवान का कहना है कि युवाओं ने आंदोलन को अपने हाथों में ले लिया है। सांगवान ने कहा, ‘उनका कोई कथित नेता नहीं है और इसीलिए, हिंसा हो रही है। कुछ शरारती तत्वों ने भीड़ में घुसपैठ की है।’ अधिकारियों ने आंदोलन से प्रभावित कई जिलों में इंटरनेट और एसएमएस सेवा भी बंद कर दी है।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें