loading...

हमारी दुनिया की बनावट कुछ ऐसी है कि इसके सारे इलाके समतल मैदान, पर्वत, समंदर, नदियों और जंगलों के बीच बंटे हुए हैं. और इनकी बनावट की वजह से ही इन्हें अलग-अलग मौसमों और आपदाओं का सामना करना पड़ता है. इन पर काम करने वाले पर्यावरणविद् बताते हैं कि प्राकृतिक आपदाओं के लिहाज से 21वीं सदी सभी को चौंका देगी, जहां दुनिया के विभिन्न इलाकों में लोगों को काफ़ी कुछ देखना और सहना पड़ सकता है. तो पेश हैं 21वीं सदी की 10 सम्भावित और त्रासद भविष्यवाणियां जो आपकी रातों की नींद चुरा लेंगी.

जंगली आग, यूनाइटेड स्टेट्स, 2015-2050

हारवर्ड स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड अप्लाइड साइसेंस (SEAS) में कार्यरत वातावरण वैज्ञानिकों का कहना है कि 2050 तक अमरीका के जंगलों में लगने वाली आग की मियाद तीन सप्ताह तक हो सकती है. और बात यहीं नहीं रुकने वाली कि इस आग से अमरीकी जंगलों का एक बड़ा हिस्सा तबाह हो जाएगा. इस आग से उठने वाला धुंआ वातावरणीय संतुलन को बिलकुल ही ख़राब कर सकता है.

loading...

Next पर देखे > बरदरबंगा ज्वालामुखी, आइसलैंड, 2014

1 of 10
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें