पीएम मोदी ने लिए ये एहम फैसला जिससे मौत के मुंह में खड़े शख्स को मिला नया जीवन!

राजनीति के खेल में बहुत कम ही देखा गया है कि जब दो विपक्षी पार्टीयां कभी एक दूसरे के फैसले के समर्थन में उतरी हों| ऐसी ही कहानी है भाजपा और माकपा की भी| राजनीति में दोनों ही पार्टियों की ज़ुबानी जंग भी आम बात है लेकिन हाल ही में दोनों विपक्षी पार्टियाँ साथ आई और ज़िन्दगी और मौत से जूझ रहे एक शख्स को जीवनदान दिया| 

दरअसल दोनों विपक्षी पार्टियों ने एक साथ आकर कर अपनी दोनों किडनी गवां चुके एक गरीब युवक को बेहतर उपचार दिलाने के लिए इंसानियत का उदाहरण दिया और आपसी रंजिश भुला कर माकपा के राज्यसभा सदस्य ऋतब्रत बनर्जी के अनुरोध पर पीएम नरेंद्र मोदी ने अपनी निधि से आर्थिक सहायता मुहैया कराई है। पीएम मोदी और भाकपा सदस्य की इस मुहीम का असर ये हुआ कि अब जल्द ही इस युवक की दोनों किडनी का प्रत्यारोपण किया जाएगा।

जानिए कैसे पीएम मोदी के एक कदम ने इस मौत के मुंह में खड़े शख्स को दिया जीवनदान

दरअसल पश्चिम बंगाल के नदिया जिले के पलासी क्षेत्र निवासी 30 वर्षीय विवेक विश्वास की बीमारी के चलते दोनों किडनी खराब हो गई थी। ऐसे में अपने जवान बेटे को इस हालत में देखकर उसके परिवार वाले टूट गए थे। विवेक का इलाज तेहट महकमा अस्पताल में चला जिसके बाद उन्हें कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल में रेफेर कर दिया गया लेकिन सरकारी अस्पताल में बेटे के इलाज में सुस्ती बर्ती जाते देख बूढ़े माँ-बाप को एक बार फिर चिंता सताने लगी|

डॉक्टरों ने विवेक के परिवार को विवेक का तकरीबन 30 जांच कराने को कहा। इलाज में समय लगता देख अब परिवार का सब्र टूटने लगा और उन्होंने विवेक को एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाने का निर्णय ले लिया, लेकिन अधिक खर्च देख गरीब परिवार के पांव एक बार फिर डगमगाने लगे| परेशानी की इस घड़ी में विवेक के परिवार को किसी ने जानकारी दी कि उपचार के लिए सांसद निधि से भी धन मिलता है।

बस फिर क्या था, सांसद निधि इस समय तो मानो विवेक के परिवार के लिए डूबते को तिनके का सहारा साबित हुई| जानकारी मिलते ही विवेक के परिवार ने माकपा के राज्यसभा सदस्य ऋतब्रत बनर्जी से संपर्क साधकर मदद की गुहार की। सांसद ने भी उपचार में मदद का हाथ बढ़ाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी परिवार को आर्थिक मदद मुहैया कराने का अनुरोध किया।

विवेक के परिवार की ये गुहार सुनते ही पीएम मोदी ने अपनी निधि से 2.90 लाख रुपये अनुदान दिए जाने की आज्ञा दे| विवेक का कहना है कि मंगलवार सुबह इसकी जानकारी दिल्ली से सांसद ऋतब्रत बनर्जी ने उन्हें दी है और अब शीघ्र ही मुकुंदपुर के एक निजी अस्पताल में विवेक का किडनी प्रत्यारोपण किया जा सकेगा|