यह बात सुनकर ममता बनर्जी खुद के गिरेवान पर झाँकने को हो जायेंगी मजबूर…

बंगाल में आज होने वाले राम नवमी समारोह पर ममता सरकार ने बंगाल में रोक लगा दी थी| जिसके बाद लोग कलकत्ता हाईकोर्ट भी गए और कोर्ट ने इस रोक को खारिज कर दिया है| अब सवाल ये उठता है की ऐसी नौबत आई ही क्यों ? क्या ममता बनर्जी अपने हिसाब से लोगों के धर्म को चलाएंगी|

ममता बनर्जी ने अपने एक ब्यान में कहा की राम नवमी कोई दंगा फसाद करने का मौका नहीं है बल्कि मानवता और प्रेम का त्यौहार है| ममता बनर्जी का कहना है की मेरी सरकार बंगाल में सांप्रदायिक भावनाए पनपने नहीं देगी| ये कोई पहला मौका नहीं है जब ममता ने हिन्दुओं की आस्था को ठेस पहुचाई हो, इससे पहले भी वे दुर्गा पूजा पर भी रोक लगा चुकी है| इससे तो यही अंदाज़ा लगाया जा सकता है की वोट बैंक के खातिर ममता ने श्री राम के नाम का फायेदा उठाकर उन्ही पर चोट लगा दी है|

इस पर भी ममता का कहना था की राम नवमी के दिन भगवान् राम की पूजा होती है और भगवान् राम रावण का वध करने के लिए अवतरित हुए थे यह दिन प्यार का प्रतीक है और हमारे बंगाल में पुराण और कुरान दोनों के लिए जगह है न की सिर्फ एक धर्म के लिए|

वहीँ ममता बनर्जी द्वारा मुस्लिमों के हित में और हिन्दुओं के खिलाफ बातें सुनते ही बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा बिलकुल भी नहीं रुके थामें और सीधा ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए संबित पात्रा ने ममता बनर्जी की धजियाँ उड़ा दी|

संबित ने कहा की ममता बनर्जी चाहे जितनी मर्जी नमाज अदा कर लें लेकिन उनका नाम हमेशा इतिहास में जय चन्द के ही नाम से लिया जायेगा| साथ ही संबित ने बंगाल के मुसलमानों से गुज़ारिश करते हुए कहा की आप लोगों से विनती है की ममता बनर्जी की बातों में न आयें क्योंकि जो इंसान अपने धर्म का न हुआ वो आपका क्या होगा यह सब वोट बैंक के लिए हो रहा है|

देखें वीडियो-

आपको बता दें की ममता बनर्जी के राज में जिस तरह पुरे बंगाल में हिन्दुओं का दमन हो रहा है अगर ऐसा ही चलता रहा तो वो दिन भी दूर नहीं जब बंगाल हिन्दुओं के लिए दूसरा कश्मीर बन जाएगा|