loading...

mahila bas

16 दिसंबर, 2012 को दिल्ली में फिजियोथेरेपी की छात्रा के साथ बस में सामूहिक दुष्कर्म कांड ने पूरे देश को झकझोर के रख दिया था। इस घटना ने देश में महिला सुरक्षा के मुद्दे पर एक बड़ा सवाल खड़ा कर दिया था।

इससे सबक लेते हुए, अब भारत सरकार सार्वजनिक बसों में छेड़छाड़ की घटनाओं को रोकने के मकसद से विशेष प्रावधान करने जा रही है। इसकी शुरुआत भी कर दी गई है।

बसों में महिलाओं से होने वाली छेड़छाड़ को रोकने के लिए पैनिक बटन लगाने की शुरुआत राजस्थान में की गई है। राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम देश का ऐसा प्रथम निगम बन गया है, जिसकी बसों में महिलाओं से छेड़छाड़ करने वाले लोग तुरंत पकड़े जा सकेंगे। इस बस का नाम महिला गौरव एक्सप्रेस रखा गया है।

1 of 4
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

शेयर करें