loading...

इस्लामाबाद: पाकिस्तानी अधिकारियों ने पिछले साल 16 दिसंबर को पेशावर में आर्मी पब्लिक स्कूल पर हुए आतंकवादी हमलेके बाद राष्ट्रीय कार्य योजना (एनएपी) शुरू की। इसके बाद से कुल 637 आतंकवादी मारे गए और 710 को गिरफ्तार किया गया है। पाकिस्तानी आंतरिक मंत्रालय ने आतंकवाद रोधी अभियान की सफलता के बारे में शुक्रवार को सीनेट को जानकारी दी। indiatv-pak-police-1450441734

loading...

मंत्रालय ने कहा कि संघ प्रशासित कबायली क्षेत्रों (फाटा) में 373 आतंकवादी मारे गए हैं। बलूचिस्तान में 98, पंजाब में 55, सिंध में 36 और इस्लामाबाद व गिलगित-बाल्टिस्तान में एक-एक आतंकवादी मारे गए हैं। गौरतलब है कि तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के आतंकवादियों ने 16 दिसंबर को खैबर-पख्तूनख्वा की प्रांतीय राजधानी पेशावर में स्थित आर्मी पब्लिक स्कूल पर हमला किया था, जिसमें 150 लोग मारे गए थे, जिनमें ज्यादातर बच्चे शामिल थे।

इसके एक दिन बाद, पाकिस्तान के सभी राजनीतिक दलों ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में एकजुटता दिखाते हुए सर्वसम्मति से राष्ट्रीय कार्य योजना को मंजूरी दे दी थी। सीनेट को यह भी बताया गया कि अल-कायदा, बलूचिस्तान रिपब्लिकन आर्मी, लश्कर-ए-बलूचिस्तान, इस्लामिक स्टेट, तहरीक-ए-जफरिया पाकिस्तान, लश्कर-ए-झांगवी, सिपाह मुहम्मद पाकिस्तान, जैश मुहम्मद और सिपाह सहाबा पाकिस्तान को प्रतिबंधित संगठनों की सूची में शामिल किया गया है।

तहरीक नफाज-ए-शरीयत मुहमम्दी, तहरीक-ए-इस्लामी पाकिस्तान और शिया तलाबा एक्शन कमेटी भी 61 प्रतिबंधित संगठनों में शामिल हैं। हाफिज सईद के संगठन, जमात-उद-दावा को भी निगरानी सूची में शामिल किया गया है।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें