loading...

ये हैं दुनिया के सबसे विवादित गुरु, शिष्या ने किए थे बड़े खुलासे

 विवादों के चरम पर पहुंचे थे आेशो रजनीश osho-ashram-of-oregon6-1449831648
loading...

जो लोग ओशो रजनीश के जीवन के बारे में कुछ खास नहीं जानते उनके लिए ओशो का नाम दुनियाभर के प्रसिद्ध बाबाओं और गुरुओं में से एक ही है। इससे ज्यादा की बात करें तो उनके लिए ओशो की पहचान एक ऐसी विवादित शख्सियत की है, जिन्होंने हमेशा स्वच्छंद जीवन और फ्री सेक्स जैसी बातों का समर्थन किया। इसके अलावा हम ओशो के बारे में यह भी कहते सुनते हैं कि वे धर्म, राष्ट्रवाद, परिवार, विवाह आदि के सख्त विरोधी थे। लेकिन क्या ओशो के विषय में किए गए ये कथन सही हैं? क्या वाकई ओशो का जीवन दर्शन इन्हीं धारणाओं के आसपास घूमता है?

ओशो की आलोचना विभिन्न प्रकार से की जाती है, उन पर कई आरोप भी लगे। कहा जाता है कि ओशो फ्री सेक्स का समर्थन करते थे और उनके आश्रम में हर संन्यासी एक महीने में करीब 90 लोगों के साथ सेक्स करता था। इसके अलावा यह भी माना जाता है कि ओशो ने धर्म को एक व्यापार बनाया और खुद सबसे बड़े व्यापारी बन बैठे। उन्होंने अपने जीवन में कई पुस्तकें लिखी, जिनमें से ‘संभोग से लेकर समाधि तक’ नामक पुस्तक ने उन्हें विवादों के चरम पर पहुंचाया।

अपने भक्तों के बीच ‘भगवान ओशो’ कहलाने वाले ओशो को लेकर उनकी शिष्या और प्रेमिका मां आनंद शीला ने चौंकाने वाले खुलासे किए थे। ओशो के आश्रम से 55 मिलियन डॉलर का घपला करने के बाद शीला 39 महीनों तक जेल में रहीं। जेल से निकलने के करीब 20 साल बाद शीला ने कुछ साल पहले रिलीज हुई अपनी किताब ‘डोंट किल हिम! ए मेम्वर बाई मा आनंद शीला’ में अपने गुरू से जुड़े कई अनछुहे पहलुओं को सामने रखा है।

आगे की स्लाइड में पढ़िए हर संन्यासी एक महीने में करीब 90 लोगों के साथ करता था सेक्स

1 of 11
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें