loading...

sunni2

loading...
सुन्नी नेता कनथापुरम एपी अबूबकर मुस्लीयर[/caption]

सुन्नी नेता कनथापुरम एपी अबूबकर मुस्लीयर ने शनिवार को विवादित टिप्पणी करते हुए लैंगिक समानता की संकल्पना को गैर इस्लामी बताया..

सुन्नी नेता कनथापुरम एपी अबूबकर मुस्लीयर ने शनिवार को विवादित टिप्पणी करते हुए लैंगिक समानता की संकल्पना को गैर इस्लामी बताया और कहा कि महिलाएं कभी पुरुषों के बराबर नहीं हो सकतीं क्योंकि वे केवल बच्चे पैदा करने के लिए होती हैं। ‘आॅल इंडिया सुन्नी जमीयतुल उलेमा’ के प्रमुख मुस्लीयर ने कहा कि महिलाओं में मानसिक मजबूती और दुनिया को नियंत्रित करने की शक्ति नहीं होती क्योंकि ‘यह पुरुषों के हाथ में होती है’।

उन्होंने कोझीकोड में ‘मुसलिम स्टूडेंट्स फेडरेशन’ के एक शिविर में कहा, ‘लैंगिक समानता ऐसी चीज है जो कभी वास्तविकता में तब्दील होने वाली नहीं है। यह इस्लाम, मानवता के खिलाफ है और बौद्धिक रूप से गलत है’। मुस्लीयर ने कहा, ‘महिलाएं कभी पुरुषों के बराबर नहीं हो सकतीं। वे केवल बच्चे पैदा करने के लिए होती हैं।

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...