loading...

अब पहले जैसा नहीं रहेगी ऑनलाइन शॉपिंग, डिस्काउंट में कटौती

loading...

फ्लिपकार्ट, आमेजन तथा स्नैपडील जैसी ई-खुदरा कंपनियों को अब ग्राहकों को आकर्षित करने के लिये आकर्षक छूट देने में कठिनाई हो सकती है। आनलाइन खुदरा बिक्री मंच (मार्केटप्लेसेस) पर जारी नये दिशानिर्देश में ऐसी कंपनियों पर वस्तुओं एवं सेवाओं की कीमतों को प्रभावित करने से रोक लगायी गयी है।

सरकार ने ई-वाणिज्य खुदरा क्षेत्र में ऑनलाइन बिक्री मंच के मामले में 100 प्रतिशत प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) की मंजूरी दे दी। दिशानिर्देश में कहा गया है कि ऐसी इकाइयां वस्तुओं एवं सेवाओं के बिक्री मूल्य को प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से प्रभावित नहीं करेंगी और सबके लिए सामान अवसर बनाये रखेंगी।

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें