loading...

संयुक्त राष्ट्र। नॉर्थ कोरिया के हाइड्रोजन बम के ‘सफल’ परीक्षण का दावा किए जाने के बाद बुधवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद न्यू यॉर्क में एक आपात बैठक का आयोजन करेगी। यह जानकारी राजनयिकों ने दी है। सुरक्षा परिषद के 15 सदस्यों के बीच बंद कमरे में होने वाली बैठक संयुक्त राष्ट्र और जापान ने बुलाई है।

अमेरिकी मिशन की प्रवक्ता हेगर चेमाली ने कहा, ‘‘हालांकि इस समय हम परीक्षण की पुष्टि नहीं कर सकते, हम संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के किसी भी उल्लंघन की आलोचना करते हैं और एकबार फिर नॉर्थ कोरिया से अपील करते हैं कि वह अपनी अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं और दायित्वों का पालन करे।’’ यदि यह परीक्षण हाइड्रोजन बम का ही था तो यह नॉर्थ कोरिया की क्षमताओं में महत्वपूर्ण वृद्धि को रेखांकित करता है। नॉर्थ कोरिया के इससे पिछले परीक्षण कहीं कम विखंडन वाले विस्फोट थे, जो कि यूरेनियम और प्लूटोनियम द्वारा संचालित थे। हाइड्रोजन बम में एक श्रृंखलाबद्ध अभिक्रिया में संलयन का प्रयोग होता है। NKOREA-POLITICS-MILITARY

loading...
यदि नॉर्थ कोरिया के दावे की पुष्टि हो जाती है तो इससे इसके प्रतिबंधित परमाणु कार्यक्रम से जुड़ी चिंताएं बढ़ जाएंगी और उस पर कड़े अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं। प्योंगयांग इससे पहले तीन परमाणु परीक्षण कर चुका है। इसने वर्ष 2006, 2009 और 2013 में परीक्षण किए थे, जिनके बाद संयुक्त राष्ट्र ने कई प्रतिबंध लगा दिए थे।

अलग-थलग पड़े नॉर्थ कोरिया को संयुक्त राष्ट्र के कई प्रस्तावों के जरिए किसी भी परमाणु गतिविधि या बैलेस्टिक मिसाइल तकनीक से प्रतिबंधित कर दिया गया है। परिषद में, प्योंगयांग का सहयोगी बीजिंग नियमित रूप से नॉर्थ कोरिया को आलोचना और प्रतिबंधों से बचाने की कोशिश करता रहा है जबकि अमेरिका बार-बार कम्युनिस्ट शासन और उसके द्वारा किए जाने वाले मानवाधिकार उल्लंघनों की निंदा करता रहा है। एक अस्थायी सदस्य के रूप में जापान एक जनवरी को परिषद में शामिल हुआ है। इसका कार्यकाल दो साल का है।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें