loading...

हर साल कुछ ऐसे चुनिंदा लोगों को नोबेल पुरस्कार से नवाज़ा जाता है जो लोग समाज और लोगों के कल्याण के लिए हितकारी कदम उठा रहे हों और जिनका काम मानव जाति के लिए सबसे कल्याणकारी पाया जाए. लेकिन क्या आप जानते है कि कब शुरू हुआ और इसके पीछे की कहानी क्या है।

भारत में अब तक कई शख्सों ने इस पुरस्कार को अपने नाम किया है। जिनमें सबसे पहले रविन्द्रनाथ टैगोर को सबसे पहले 1913 में साहित्य में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। इसके बाद 1930 में सी. वी. रमन को भौतिकी में, 1970 में मदर टेरेसा को शांति के लिए, 1998 में अमरत्य सेन को अर्थशास्त्र के लिए और 2014 में कैलाश सत्यार्थी को शांति के लिए सम्मानित किया गया है। आपको बता दें कि नोबेल पुरस्कार चिकित्सा, भौतिकी, रसायन, साहित्य, शांति और अर्थशास्त्र के लिए दिया जाता है। समाज के लिए हितकारी कदम उठा रहे कई लोगों का सपना होता है कि उन्हें नोबेल सम्मान से नवाजा जाये लेकिन ये सम्मान कितने संघर्षों के बाद ये मिलता है वो आप सोच भी नहीं सकते हैं।

नोबेल पुरस्कार की शुरुआत 1901 में स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल की याद में  नोबेल फाउंडेशन द्वारा किया गया था। यह पुरस्कार शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन, चिकित्सा विज्ञान और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में दिया जाने वाला विश्व का सर्वोच्च पुरस्कार है। इस पुरस्कार के रूप में प्रशस्ति-पत्र के साथ 14 लाख डालर की राशि भी प्रदान की जाती है। यानि की भारतीय रुपये के हिसाब से ये राशी लगभग 93 करोड़ होती है।

mtm1md

loading...

कौन थे अल्फ्रेड नोबेल?

अल्फ्रेड बर्नार्ड नोबेल स्वीडन निवासी रसायनज्ञ तथा इंजीनियर थे। अल्फ्रेड नोबेल ने कुल 355 आविष्कार किए हैं।  जिनमें 1867 में किया गया डायनामाइट का आविष्कार भी शामिल है। दिसंबर 1896 में मृत्यु के पूर्व अपनी विपुल संपत्ति का एक बड़ा हिस्सा उन्होंने एक ट्रस्ट के लिए सुरक्षित रख दिया था। उनकी इच्छा थी कि इस पैसे के ब्याज से हर साल उन लोगों को सम्मानित किया जाए जिनका काम मानव जाति के लिए सबसे कल्याणकारी हो। स्वीडिश बैंक में जमा इसी राशि के ब्याज से नोबेल फाउँडेशन द्वारा हर वर्ष शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन, चिकित्सा विज्ञान और अर्थशास्त्र में सर्वोत्कृष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। नोबेल फ़ाउंडेशन की स्थापना 29 जून 1900 को हुई तथा 1901 से नोबेल पुरस्कार दिया जाने लगा।

Click on Next Button For Next Slide

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें