loading...

8 नवंबर की शाम तक किसी को भी अंदाजा नही था कि 500 और 1000 के नोट बंद हो जाएंगे, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने जैसे ही घोषणा की कि 9 नवंबर से 500 और 1000 के नोटों को बंद कर दिया जाएगा l  इन नोटों को बंद करने का ऐलान लोगों के लिए काफी चौकाने वाला था और उन्होंने इसकी कभी उम्मीद भी नही की थी l हालाँकि मोदी सरकार के इस फैसले के बाद से आम लोगों में काफी ख़ुशी भी है और वो मानते हैं कि इससे भ्रष्टाचार और कालेधन पर लगाम लगेगी l सच कहिए तो बाजार में जो पुराने 500 और 1000 के नोट प्रचलन में अब तक थे उनके जाली नोटों का कारोबार खूब फल-फूल रहा था l ज्यादातर इन जाली नोटों का इस्तेमाल आतंकवादी गतिविधियों के लिए हो रहा था, जिससे देश की सुरक्षा पर खतरा बना रहता था, साथ ही भारत की अर्थव्यस्था पर चोट भी पहुँचती थी l इन जाली नोटों का कारोबार पाकिस्तान और चीन से चल रहा था l माना जाता है कि चीन में बने ये जाली नोट कई बार नेपाल की सीमा पर पकड़े गए हैं l

1

loading...

पाकिस्तान में भारतीय मुद्रा की इन दो बड़ी नोटों की छपाई अब तक आतंक के बढ़ावे में खूब मददगार साबित होती हुई l कहा जाता है कि कश्मीर में भारतीय सेना पर पत्थर मारने वाले लड़कों को पैसे देने के लिए भी इन्हीं जाली नोटों का सहारा लिया जाता था l बैन के बाद अब जो नए नोट जारी किये जाएंगे उसकी कॉपी करना पाकिस्तान के लिए मुश्किल ही नही नामुमकिन है l बाजार में आ रहे 500 और 2000 के नए नोटों को इस तरीके से बनाया गया है कि इन नोटों के जाली नोट बनाना संभव नही होगा l

आगे पढ़िए नए नोटों की खासियतें जिसकी वजह से नही हो पायेगा कॉपी

Click on Next Button For Next Slide

1 of 4
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें