loading...

‘तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आज़ादी दूंगा’। खून भी एक-दो बूंद नहीं, इतना कि खून का एक महासागर तैयार हो जाए और मैं उसमें ब्रिटिश साम्राज्य को डूबो दूं “ , ये नारा दिया था नेताजी सुभाषचंद्र बोस ने। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक, आजाद हिन्द फौज के संस्थापक और जय हिन्द का नारा देने वाले सुभाष चंद्र बोस (जन्म-23 जनवरी, 1897 कटक,उड़ीसा) के अतिरिक्त हमारे देश के इतिहास में ऐसा कोई व्यक्तित्व नहीं हुआ जो एक साथ महान सेनापति, वीर सैनिक,राजनीति का अद्भुत खिलाड़ी और अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पुरुषों, नेताओं के समकक्ष साधिकार बैठकर कूटनीतिज्ञ तथा चर्चा करने वाला हो।

भारत की स्वतंत्रता के लिए सुभाषचंद्र बोस ने क़रीब-क़रीब पूरे यूरोप में अलख जगाया। बोस प्रकृति से साधु, ईश्वर भक्त तथा तन एवं मन से देशभक्त थे। महात्मा गांधी के नमक सत्याग्रह को नेपोलियन की पेरिस यात्रा की संज्ञा देने वाले सुभाष चंद्र बोस का एक ऐसा व्यक्तित्व था, जिसका मार्ग कभी भी स्वार्थों ने नहीं रोका, जिसके पांव लक्ष्य से पीछे नहीं हटे, जिसने जो भी स्वप्न देखे, उन्हें साधा और जिसमें सच्चाई के सामने खड़े होने की अद्भुत क्षमता थी। हालांकि गांधीजी से उनकी विचारधारा मेल नहीं खाती थी, लेकिन गांधी जी ने उन्हें देशभक्तों का देशभक्त कहा। उनका दिया नारा “जय हिंद” भारत का राष्ट्रीय नारा बना। दिल्ली चलो का नारा भी उन्होंने ही दिया। बोस ने ही गांधीजी को राष्‍ट्रपिता की संज्ञा दी।netaji

loading...
जिस नेता जी उपनाम को सुभाष बाबू ने गरिमा दी। वही नेता जी उपनाम आज भ्रष्ट तंत्र का पर्यायवाची हो गया है। आजादी के बाद देश के राजनीतिज्ञों ने नेता शब्द को इतना शर्मसार कर दिया कि आज कोई युवा नेता नहीं बनना चाहता। वह राजनीति की मुख्यधारा में शामिल होना ही नहीं चाहता। जबकि आजादी से पहले अधिकांश युवाओ में देश के लिए एक जज्बा था, एक सपना था, उम्मीदें थी, हर कोई नेता जी सुभाषचन्द्र बोस बनना चाहता था। नेता जी युवाओ के प्रेरणा स्रोत तब भी थे और आज भी हैं। लेकिन आजादी के बाद नेता शब्द ऐसा हो गया है कि अब शायद ही कोई युवा इसे अपने नाम के साथ लगाना चाहे। ये देन है हमारी राजनीतिक व्यवस्था की।

आजादी के पहले देश के नेता कहते थे, तुम मुझे खून दो मै तुम्हे आजादी दूंगा, आजादी के बाद तथाकथित नेता कहते है कि तुम मुझे वोट दो मै तुम्हे घोटाले दूंगा

Next पर क्लिक कर पूरा लेख जरूर पढ़े…. 

1 of 3
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें