loading...
msid-49966934,width-300,resizemode-4,torch-Indian-embassy-car
loading...
              जलाई गयी कार

काठमांडू : नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) के सदस्यों ने शनिवार को कहा कि उन्होंने भारतीय दूतावास की एक गाड़ी में आग लगा दी है। जबकि पुलिस और दूतावास के अधिकारियों ने इस दावे को खारिज कर दिया है। पार्टी के सदस्यों का कहना है कि उन्होंने भारत से नेपाल आने वाले खाद्य सामानों और अन्य आवश्यक उपभोक्ता वस्तुओं की आपूर्ति बाधित करने के लिए की गई नाकेबंदी के विरोध में गाड़ी में आग लगाई है और उसकी खिड़की के शीशे तोड़ दिए हैं।

जिस गाड़ी में आग लगाई गई, वह यहां भारतीय दूतावास के कैंपस में खड़ी थी और उसमें कोई भी सवार नहीं था। भारतीय दूतावास का कहना है कि यह गाड़ी उसके एक कर्मचारी की है। दूतावास के अधिकारियों और पुलिस दोनों ने नेत्रा बिक्रम चंद के नेतृत्व वाले सीपीएन-माओवादी के इस दावे को खारिज कर दिया है, और कहा कि गाड़ी में किसी तकनीकी गड़बड़ी की वजह से आग लग गई थी। सीपीएन-माओवादी ने भारत की नाकेबंदी के विरोध में रविवार को नेपाल बंद का आह्वान कर रखा है।
नेपाल कॉम्युनिस्ट पार्टी माओवादी के प्रवक्ता खड्ग बहादुर विश्वकर्मा ने कहा, ‘हमलोगों ने इससे पहले चेतावनी दी थी कि भारतीय गाड़ी नेपाल में नहीं दिखनी चाहिए। यदि नेपाल में भारतीय गाड़ी दिखती है तो यहां के आक्रोशित लोग कुछ भी कर सकते हैं। मोदी सरकार इस मसले को गंभीरता से नहीं ले रही है इसलिए लोगों में गुस्सा बढ़ रहा है। यह गुस्सा एक संघर्ष में तब्दील हो जाएगा। इससे न तो भारत को फायदा होगा और न ही मोदी जी को।’

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...