loading...
Mahbuba-mufti
loading...
                                             पीडीपी सांसद महबूबा मुफ्ती

नई दिल्ली । मुसलमानों को पाकिस्तान जाने की सलाह देने वाले कुछ दक्षिणपंथी नेताओं को आड़े हाथ लेते हुए पीडीपी सांसद महबूबा मुफ्ती ने कहा कि मुसलमानों को बार-बार पाकिस्तान जाने का ताना नहीं दिया जाना चाहिए क्योंकि यह देश जितना ‘उनका’ है उतना ही मुसलमानों का भी है।

संविधान को अंगीकार किए जाने और बाबा साहब भीमराव आंबेडकर की 125वीं जयंती पर लोकसभा में जारी चर्चा में हिस्सा लेते हुए पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की सदस्य महबूबा मुफ्ती ने लोकसभा में कहा, ‘बार-बार पाकिस्तान का ताना न दें। ये मिट्टी जितनी उनकी है, उतनी ही हमारी भी है’।

देश में कथित रूप से बढ़ती असहिष्णुता की चर्चाओं पर उन्होंने सीरिया और खाड़ी देशों में जारी अशांतिपूर्ण माहौल की पृष्ठभूमि में कहा, ‘जितनी सहिष्णुता हिंदुस्तान में है, उतनी किसी में नहीं है’। महबूबा ने कहा कि बाबा साहब इतना खूबसूरत और समावेशी संविधान इसलिए तैयार कर पाए क्योंकि उनके सामने आगामी चुनाव नहीं बल्कि भावी पीढ़ियों का विकास था।

उन्होंने कहा, ‘अमेरिका, यूरोप, ब्रिटेन, खाड़ी, सीरिया और पाकिस्तान किसी भी देश को देख लें। हिंदुस्तान सर्वाधिक सहिष्णु देश है’। उन्होंने आतंकवादी संगठन आइएस का नाम लिए बिना कहा कि इस्लाम के नाम पर वे गलत काम कर रहे हैं। उन्होंने हालांकि दादरी जैसी घटनाओं की निंदा की। पीडीपी नेता ने इसी संदर्भ में कहा कि हमारे मुल्क का इस्लाम असली इस्लाम है। यहां का मुसलिम अमन पसंद इसलिए है क्योंकि हिंदू समाज सहिष्णु है।

उन्होंने पिछले दिनों देश में कथित रूप से असहिष्णुता की बढ़ती घटनाओं के संबंध में लेखकों के पुरस्कार लौटाए जाने और दादरी जैसी घटनाओं के बाद कुछ दक्षिणपंथी नेताओं के मुसलमानों को पाकिस्तान जाने की सलाह देने वाले नेताओं को भी आड़े हाथ लिया। महबूबा ने कहा, ‘आप कौन होते हैं ये कहने वाले कि पाकिस्तान जाओ? ये हम सब का देश है। बार-बार पाकिस्तान का ताना न दें। ये मिट्टी जितनी उनकी है, उतनी ही हमारी भी है’।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें