loading...

mehbooba-mufti_

loading...

विधानसभा में बोलते हुए सीएम Mehbooba Mufti ने कहा कि कश्मीर और कश्मीरियत के लिए जो जरूरी कदम होगा वो उठाए जाएंगे।

धारा 370 का जिक्र आते ही जहन में एक सवाल पनप जाता है कि आखिर जम्मू कश्मीर की सरकार इस मसले पर सोचती क्या है। विधानसभा में सीएम Mehbooba Mufti ने इस पर काफी हद तक तस्वीर साफ कर दी कि सरकार के लिए धारा 370 के क्या मायने है। विधानसभा में अलगाववादियों को जमकर लताड़ लगाते हुए महबूबा ने कहा कि  राज्य की विरासत को कमजोर बनाने का काम कर रहे हैं अलगाववादी।

सीएम Mehbooba Mufti ने कहा कि अनुच्छेद 370 हमारी विरासत है. और हमसब मिलकर इसकी हिफाजत करेंगे। उन्होने ललकारते हुए कहा कि यहां मौजूद हर सदस्य की हिफाजत की जिम्मेदारी हमारी है। जब ये सुरक्षित रहेगी जभी यहां कि रियासत भी सुरक्षित लगेगी। उन्होने कहा कि मस्जिदों में नारे लगाने से 370 नहीं बचेगी। सीएम Mehbooba Mufti अपने विभागों की अनुदान की मांगों पर चर्चा का जवाब विधानसभा में दे रही थी।

सीएम महबूबा ने कहा कि काश अनुच्छेद 370 पर चिल्लाने वाले इंडस्ट्रियल पॉलिसी और कश्मीरी पंडितों की कॉलोनी के खिलाफ बोलने वाले पर भी कुछ बोलते, प्रदेश में लड़कियों की प्रताडऩा के खिलाफ भी कुछ कह पाते। आए दिन होने वाली पत्थरबाजी पर कुछ पाते, वादियों में फैले नशे के खिलाफ भी कुछ बोलने की हिम्मत करते। तो आज रियासत ज्यादा खुशहाल होती।

Mehbooba Mufti ने बीजेपी-पीडीपी गठबंधन पर सवाल उठाने वालों को कहा कि जनता के हित के लिए मैं एक बार नहीं बल्कि 100 बार बीजेपी से गठबंधन करूंगी। उन्होने कहा कि मैने ये फैसला अपने घर के लिए नहीं लिया और न ही मुझे इस पर सफाई देने की कुछ जरूरत है। Mehbooba Mufti ने कहा कि ऐसा कहा जा रहा है कि मैने अलगाववादियों को जेल में बंद करा दिया। उन सब लोगों से मैं कहना चाहती हूं कि हम अपना टूरिज्म सीजन बर्बाद नहीं करना चाहते हैं। उन्होने कहा कि यहां माहौल खराब करने की साजिश रची जा रही है।

कश्मीरी पंडितों के मसले पर बोलते हुए सीएम महबूबा ने कहा कि कश्मीरी पंडितों का पुनर्वास हमारे कश्मीरियत को जिंदा रखने के लिए जरुरी है। उन्होने कहा कि आज हमारे बच्चों को ये पता ही नहीं कि कश्मीरी पंडित कौन है, वो गैर कश्मीरी मुस्लिमों को ही कश्मीरी पंडित समझते है। उन्होने कहा कि अब वक्त बदलाव है और कश्मीर के हित के लिए हर जरूरी कदम उठाए जाएंगे।

Inputs from IndianTrendingNow

awarepress.com’s Take On This

धारा 370 का हटना, वास्तव में कश्मीर का एकमात्र हल है! कश्मीर, भारत में पूर्ण विलय के बाद ही पुनः स्वर्ग बनेगा! और दूसरा कोई उपाय नहीं है!  लेकिन, हम इस बात की क़द्र करते हैं कि वर्तमान मुक्यमंत्री जैसे लोग, कम से कम, इतना जरूर समझते हैं कि कश्मीर और वहां के लोगों की भलाई, भारतीय कहलाने में है, भारत के साथ जुड़े रहने में है! और यदि किसी को कोई समस्या है तो वो सिस्टम में जाकर उसे सही करने का प्रयास करे, न की सिरफिरों की तरह बंदूकें उठा ले, और अपने ही परिवार, बंधुजन, ग्रामजन और समाज को अधोगति की ओर ले चले!

मुख्यमंत्री साहिबा से हम यही कहना चाहते हैं की – हौसला रखिये मैडम, राष्ट्रवादी कुछ गलत नहीं होने देंगे! और रही बात अलगाववाद की आड़ में छुपे आतंकियों की, तो उन्हें तो हम ढूंढ-२ कर पटक ही रहे हैं! धारा ३७० तो हटेगी और जरूर हटेगी! और इतना भी बता देते हैं कि ऐसा करने का पहला लक्ष्य कश्मीर की खुशहाली सुनिश्चित करना है, हर गरीब से गरीब कश्मीरी को मुख्यधारा से जोड़ना है!

वन्दे मातरम् , जय हिन्द!

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें