loading...
अजमेर के इस मंदिर में बन्दर पूजा करता है, देता है लोगों को आर्शीवाद
loading...
अजमेर के इस मंदिर में बन्दर पूजा करता है, देता है लोगों को आर्शीवाद

हनुमान भक्तों की आस्था के प्रतीक अजमेर के बजरंगगढ़ मंदिर में पिछले सात साल से रामू नाम का एक बंदर भी प्रभू की भक्ति कर रहा है। रात में वह मंदिर की पहरेदारी भी करता है। उसमें कई ऎसी खास विशेष्ाताएं हैं जो आम वानरों में देखने को नहीं मिलती।

रामू मंदिर में ही रहता, खाता-पीता और सोता है। रामू अपने माथे पर एक सच्चे भक्त की तरह बालाजी का तिलक लगवाता है। अपने पैर धुलवाता है, साथ ही हनुमान भक्तों को आशीर्वाद भी देता है। रामू मंदिर में रखे घंटे-झालर भी बजाता है। साथ ही बालाजी के दर पर आए भक्तजनों के साथ आरती व हनुमान चालीसा पाठ के दौरान मंदिर में अपनी उपस्थिति दर्ज कराता है। वहीं कई बार भजन या आरती पर नृत्य भी करता है।

आगे पढ़े: मंदिर के लिए अच्छे दिन लाया रामू बंदर

1 of 3
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें