loading...

नई दिल्ली – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्लैकमनी और करप्शन के खिलाफ लड़ाई में बड़ा एलान किया। उन्होंने मंगलवार को आधी रात से 500-1000 रुपए के नोट के इस्तेमाल पर बैन लगाने का एलान किया। पुराने नोटों को 31 दिसंबर तक बैंकों और पोस्ट ऑफिसों में बदला जा सकता है। मोदी ने 500 और 2 हजार के नए नोट जारी करने का भी एलान किया। इसके अलावा 9 और 10 नवंबर को एटीएम काम नहीं करेंगे। कुछ दिन तक सिर्फ दो हजार रुपए एटीएम से निकाले जा सकेंगे।

loading...

10 नवंबर तक काम नहीं करेंगे एटीएम

पीएम मोदी ने कहा, ‘10 नवंबर तक अधिकांश एटीएम काम नहीं करेंगे। प्रतिदिन निकाली जा सकने वाली सीमा 2000 रुपए रहेगी। फिर उसे बढ़ाकर 4000 रुपए कर दिया जाएगा। 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट आज रात 12 बजे से कानूनी तौर पर खत्म हो जाएंगे। लेकिन सामान्य जनजीवन की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए मानवीय दृष्टिकोण से हमने इस प्रक्रिया में शुरुआती 72 घंटों में यानी 11 नवंबर रात 12 बजे तक नागरिकों के लिए कुछ विशेष व्यवस्था की है। 11 नवंबर रात 12 बजे तक सरकारी अस्पतालों में ये नोट स्वीकार किए जाएंगे। इससे वैसे परिवार जिनमें कोई बीमार है, उन्हें इलाज में कोई बाधा नहीं आएगी। मेडिकल की दुकानों पर भी डॉक्टर का पर्चा दिखाकर और स्टेशनों पर टिकट खरीदे जा सकेंगे।’ वहीं, बैंक से एक दिन में सिर्फ 10 हजार रुपए निकाले जा सकेंगे। एक हफ्ते के भीतर 20 हजार रुपए तक विदड्रा किए जा सकते हैं।

इसके साथ ही पीएम मोदी ने बताया कि, देश का ईमानदार भारतीय असुविधा तो चुन लेगा लेकिन भ्रष्टाचार नहीं चुनेगा। ये सफाई का अभियान है, ताकि हर भारतीय ईमानदारी और गर्व के साथ काम कर सके। और दुनिया को दिखाना होगा कि, हमारे देश के नागरिक कितने ईमानदार है। आपको बता दे कि, इससे कार्ड और चेक से लेनदेन करने पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है।

4 हजार रुपए तक नोट बदले जा सकेंगे

उन्होंने कहा, ‘9 नवंबर को देश के सभी बैंक बंद रहेंगे और एटीएम काम नहीं करेंगे। मेरा जनता से इतना ही आग्रह है कि वो बैंक और पोस्ट ऑफिस के लोगों को सपोर्ट करेंगे।’ पीएम मोदी ने कहा, ‘10 नवंबर से 24 नवंबर तक 4000 रुपए तक के पुराने 500 और 1000 के नोट बदले जा सकते हैं। 15 दिन बाद यानी 25 नवंबर से 4000 रुपए की सीमा में वृद्धि कर दी जाएगी। ऐसे लोग जो इस समय यानी सीमा के अंदर यानी 25 नवंबर से 4000 रुपए की सीमा में वृद्धि कर दी जाएगी। ऐसे लोग जो इस समय यानी सीमा के अंदर यानी 30 दिसंबर 2016 तक पुराने नोट किसी कारणवश जमा नहीं कर पाए तो उन्हें 500 और 1000 के नोट बदलने का एक आखिरी अवसर भी दिया जाएगा। वे रिजर्व बैंक में घोषणा पत्र के साथ 31 मार्च 2017 तक जमा करा सकेंगे।

लीगल नहीं रहेंगे 500-1000 रुपए के नोट

पीएम मोदी ने कहा, ‘आज मध्यरात्रि यानी 8 नवंबर 2016 की रात 12 बजे से वर्तमान में जारी 500 रुपए और एक हजार रुपए के करंसी नोट लीगल टेंडर नहीं रहेंगे। यानी ये मुद्राएं कानून अमान्य होंगी। भ्रष्टाचार, कालेधन और जाली नोट के कारोबार में लिप्ट देशविरोधी और समाजविरोधी तत्वों के पास मौजूद हजार और पांच सौ रुपए के नोट कागज के एक टुकड़े के समान रह जाएंगे। ऐसे नागरिक जो संपत्ति मेहनत और ईमानदारी से कमा रहे हैं, उनके हितों और हक की पूरी रक्षा की जाएगी। 100, 50, 20, 10, 5, 2, 1 रुपए के नोट और सिक्कों पर कोई रोक नहीं है।

हवाई अड्डों, पेट्रोल पंपों पर 72 घंटों तक रहेंगे मान्य

उन्होंने कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों, पेट्रोल पंपों पर 72 घंटे तक ये मान्य रहेंगे। मैं यह स्पष्ट करना चाहूंगा कि नॉन-कैश लेनदेन यानी डेबिट-क्रेडिट कार्ड जैसे पेमेंट में कोई रुकावट नहीं आएगी। इन सारे इंतजामों के बावजूद हमारे ईमानदार देशवासियों को तकलीफ का सामना करना पड़ा तो अनुभव यह बताता है कि देश का ईमानदार नागरिक भलाई के लिए कठिनाई का सामना करने में कभी पीछे नहीं रहता।

खाते में जमा करने की मिलेगी सुविधा

उन्होंने कहा, ‘खाते में जमा करने की सुविधा के साथ-साथ दूसरी सुविधा भी दी जा रही है। तत्काल आवश्यकता के लिए पांच सौ और एक हजार के पुराने नोटों को किसी भी बैंक या प्रमुख या उप डाकघर के काउंटर से अपना पहचान पत्र जैसे आधार कार्ड, मतदाता पत्र, राशन कार्ड, पासपोर्ट, पैन कार्ड आदि सबूत के रूप में पेश करके नोट बदल सकते हैं।

ब्लैकमनी के इस्तेमाल को रोकने के लिए पहल

पीएम मोदी ने कहा कि यह पहल ब्लैकमनी पर रोक लगाने के लिए की गई है। उन्होंने कहा, ‘भ्रष्टाचार से जमा किया गया धन हो या ब्लैकमनी हो, ये दोनों ही बेनामी हवाला कारोबार को भी मदद देते हैं। साथ ही हवाला से मिले धन का इस्तेमाल आतंकियों ने हथियारों की खरीद-फरोख्त में भी किया है। चुनावों में ब्लैकमनी के उपयोग की बात भी पुरानी है।

देखे विडियो : 

देखे एक और विडियो

 

 

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें