loading...

4

loading...
नई दिल्ली पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार को दो साल पूरे होने वाले हैं। लेकिन इकनॉमिक टाइम्स मैगजीन की ओर से ऑनलाइन कॉन्वरसेशन की स्टडी के मुताबिक कई मोर्चों पर सरकार के प्रति संदेह भी पैदा हुआ है। इसी साल की शुरुआत में पश्चिमी देश के एक कारोबारी ने मुंबई में बिजनस वर्ल्ड की एक मीटिंग के दौरान, जिसमें करीब एक दर्जन दिग्गज उद्योगपति मौजूद थे, पूछा था कि आप में से कितने लोग मानते हैं कि नरेंद्र मोदी सरकार अच्छा काम कर रही है। इस पर दो लोगों ने अपने हाथ खड़े किए थे, लेकिन यह पूछने पर कि कितने लोग मानते हैं कि सरकार उम्मीदों के मुताबिक काम नहीं कर पा रही है, किसी ने हाथ नहीं उठाया।

यह भी पढ़े – हिन्दू वैदिक काल से बीफ खाते रहे हैं, अब गौ हत्या बंद नहीं होने दूँगा!

स्पष्ट था कि देश का उद्योगपति समुदाय किनारे पर बैठकर ही खुश है, यानी वह अपनी राय जगजाहिर करने से बच रहा है। इस तरह की चुप्पी इसी सप्ताह की शुरुआत में पिछले दिनों टूटी जब गोदरेज ग्रुप के अदि गोदरेज ने कहा कि राइट विंग और चुनावी मजबूरियों के चलते अर्थव्यवस्था प्रभावित हो रही है। गोदरेज ने कहा था, ‘कुछ चीजें ग्रोथ को प्रभावित कर रही हैं, जैसे कुछ राज्यों में बीफ पर बैन लगाना। इससे स्पष्ट तौर पर कृषि और ग्रामीण विकास प्रभावित हो रहा है।’ गोदरेज के मुताबिक प्रतिबंध लगाना किसी भी अर्थव्यवस्था के लिए बुरा है।

1 of 4
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें