loading...

इस बात में कोई दो राय नहीं कि शहरों में पिछले कुछ समय से महिलाओं के लिए वर्जित विषय पर चर्चा बढ़ी है और सोशल मीडिया के ज़रिए कैंपेन चलाकर उन्हें जागरूक करने का काम भी हुआ है। हाल ही में सोशल मीडिया पर वायरल हुए ”हैप्पी टू ब्लीड” कैंपेन (पीरियड्स से जुड़े टैबू को ख़त्म करने के लिए) को भी लोगों का अच्छा रिस्पॉन्स मिला। इसके अलावा अभी कुछ दिनों पहले ही कोलकाता की हाई स्कूल में पढ़ने वाली एक लड़की ने जब अपने पीरियड वाले पजामा को सोशल साइट पर शेयर किया, तो ये लोगों के बीच चर्चा का विषय रही।'पीरियड्स' को अपवित्र बताने वालों को इस लड़की ने दिया ऐसा जवाब, चुप रह गए बोलने वाले..!
loading...
दरअसल, अनुष्का दासगुप्ता नामक इसे लड़की को अचानक पीरियड्स आ गए और उसे पता नहीं चला, राह चलते मर्द उसे घूरने लगे, जबकि महिलाएं उसे अपना टी-शर्ट नीचे खींचकर खून के धब्बे छुपाने की सलाह देने लगी। एक महिला ने जब उसे सैनिटरी नैपकिन दिया तब उसे समझ आया कि लोग उसे आश्‍चर्य भरी निगाहों से क्यों देख रहे हैं। फिर घर जाकर अनुष्का ने अपना वही पायजामा बिना किसी शर्म और झिझक के सोशल साइट पर शेयर करते हुए लिखा, “ये पोस्ट उन सभी महिलाओं के लिए जिन्होंने मेरे वुमनहुड को छुपाने के लिए मुझे मदद का ऑफर दिया। मैं शर्मिंदा नहीं हूं। मुझे हर 28 से 35 दिनों में पीरियड होता है, मुझे दर्द भी होता है, तब मैं मूडी हो जाती हूं, लेकिन मैं किचन में जाती हूं और कुछ चॉकलेट बिस्किट खाती हूं।”

1 of 3
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें