loading...

कानपुर। संजय, जयचंद्र और रवि शंकर के घर पाकिस्तान से चिट्ठी आई है। चिट्ठी में लिखा है कि संजय, जयचंद्र और रवि पाकिस्तान की जेल में हैं और जिंदा हैं। बेटे के जिंदा होने का समाचार लेकर आने वाला यह खत मां के आंसुओं से भींग गया है पर फिर भी वे उसे पढ़ती है और अपने दिल को दिलासा देती है कि बेटे आएंगे। जिंदा वापस आएंगे।

पाक से आया पत्र।
loading...
पाक से आया पत्र।

तीनों बेटों ने पत्र में लिखा है कि मां, चरण स्पर्श। रोना नहीं, यहां रोज खाने के लिए पांच रोटियां मिलती हैं। दो सुबह खा लेते हैं, दो दोपहर और एक रात। बाकी सब ठीक है। अपना ख्याल रखना।

घाटमपुर थाने के मोहम्मदपुर गांव में रहने वाले इन तीन लड़कों का परिवार मछुआरों का परिवार है। संजय, जयचंद्र और रविशंकर को गुजरात के बॉर्डर पर मछली पकड़ते हुए पाकिस्तानी नौ सेना ने गिरफ्तार कर लिया था। आरोप था कि इनकी नाव मछली पकड़ने के दौरान भारत की जल सीमा पार कर पाकिस्तान की जल सीमा में पहुंच गई थी।

1 of 2
CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...
शेयर करें