loading...

savarkar aginst

loading...

कांग्रेस पार्टी के आधिकारिक अकाउंट से किया गया ट्वीट
कांग्रेस पार्टी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से किए गये इस ट्वीट पर मानहानि का नोटिस भेजा गया है। रंजीत का आरोप है कि कांग्रेस पार्टी के ट्विटर अकाउंट से बीते मार्च महीने में वीर विनायक दामोदर सावरकर के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्‍पणी की गई है। रंजीत सावरकर के मुताबिक कांग्रेस पार्टी के ट्विटर अकाउंट से बीते मार्च महीने में जो पोस्‍ट किये गये थे, उनसे सावरकर को गद्दार कह कर अपमान किया गया है।

बिना शर्त माफी की मांग
नोटिस में कांग्रेस पार्टी और इसके अधिकारियों से मांग की गई है कि वे नोटिस मिलने के बाद 48 घंटे के भीतर इस ट्विटर अकाउंट के जरिये सावरकर और उनके परिवार से बिना शर्त माफी मांगें। इसकी तस्दीक रंजीत सावरकर के वकील ने भी कर दी है।  उनका कहना है कि यह नोटिस पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किये गये उस ट्वीट्स से संबंधित हैं। जिसमें सावरकर को गद्दार कहा गया था।

वीर सावरकर को बताया गया था ‘गद्दार’
कांग्रेस के ट्विटर अकाउंट से पांच, 22 और 23 मार्च को ये ट्वीट किये गये थे, जिसमें तस्‍वीरों, पोस्‍टर्स और बयानों के जरिये विनायक दामोदर सावरकर को गद्दार बताया गया था। 23 मार्च को भगत सिंह की पुण्‍यतिथि के मौके पर किए गए एक ट्वीट में कहा गया था, भगत सिंह ने ब्रिटिश राज से आजादी के लिए जंग छेड़ी। वीडी सावरकर ने रहम की भीख मांगी। ब्रिटिश राज में एक गुलाम बनने के लिए।

कांग्रेस की कोई प्रतिक्रिया नहीं
नोटिस में कहा गया कि कांग्रेस और उसके नेताओं ने ट्वीट के जरिए एक बहादुर, हिम्‍मतवाले, ईमानदार और महान राष्‍ट्रवादी नेता का अपमान किया है। हालांकि, कांग्रेस की ओर से अभी तक इस मामले में कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

CLICK ON NEXT BUTTON FOR NEXT SLIDE

loading...